व्यापार

मुकेश अंबानी ने खरीदा 10 अरब का सोडियम, दुनिया…

देश के मशहूर उद्योगपति मुकेश अंबानी अक्सर अपने दूरगामी फैसलों के लिए जाने जाते हैं. मुकेश अंबानी ने कई ऐसे फैसले लिए हैं जो आने वाले समय में उनके बिजनेस के लिए काफी फायदेमंद हो सकते हैं।

हाल ही में मुकेश अंबानी ने ब्रिटेन में 10 करोड़ पाउंड मूल्य का सोडियम खरीदकर दुनिया को चौंका दिया था। ऐसे में दुनिया भर के कई बुद्धिजीवी सोच रहे हैं कि मुकेश अंबानी ने 10,000 करोड़ रुपये का सोडियम क्यों खरीदा?

दरअसल, अंबानी के 10 अरब रुपये के सोडियम खरीदने के फैसले से दुनिया हैरान है क्योंकि लिथियम-आयन बैटरी अब स्मार्टफोन से लेकर इलेक्ट्रिक कारों तक हर जगह मौजूद हैं। ऐसे में अगर एशिया के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी इंग्लैंड में सोडियम बैटरी बनाने में निवेश करने का फैसला करते हैं तो यह एक दूरगामी फैसला हो सकता है।

Read More :  OMG…यहाँ पेड़ पर उगते हैं अंडे…

मुकेश अंबानी अपने पावर स्टोरेज गीगाफैक्ट्री के लिए सोडियम को लिथियम के बेहतर विकल्प के रूप में देख रहे हैं। गौरतलब है कि पृथ्वी पर सोडियम की मौजूदगी लिथियम से 300 गुना ज्यादा है। आज दुनिया में इलेक्ट्रिक वाहनों का क्रेज बढ़ता ही जा रहा है और इसके कारण न केवल लिथियम बल्कि उच्च ग्रेड निकल, कोबाल्ट और ऊर्जा को स्टोर करने वाली हर धातु का उपयोग इलेक्ट्रिक वाहन बैटरी में किया जा रहा है। ऐसे में इन धातुओं की कीमत भी बढ़ रही है, दरअसल इनकी उपलब्धता धीरे-धीरे कम हो रही है।

Read More :  सिंगरौली – शौचालय अव्यवस्था का शिकार

कई रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि 2030 तक लिथियम-आयन बैटरी बनाने के लिए धातुओं की मांग 5 गुना बढ़ सकती है। ऐसे संकेत हैं कि 2022 में बैटरी की कीमतें बढ़ेंगी अंबानी की प्रमुख कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड अपने 76 अरब डॉलर के स्वच्छ ऊर्जा कारोबार पर बड़ा दांव लगा रही है। वास्तव में, मुकेश अंबानी एक ऐसी तकनीक पर काम कर रहे हैं जो पारंपरिक लेड-एसिड बैटरी जितनी सस्ती है और इसे बनाने के लिए उपयोग की जाने वाली सामग्री आसानी से उपलब्ध है।

यूके स्थित वेंचर कैपिटल लिस्टर अश्विनी कुमार स्वामी का कहना है कि अगर सभी बैटरी निर्माता लिथियम पर दांव लगाना शुरू कर दें तो यह लंबे समय तक काम नहीं करेगा। इसके अलावा, दुनिया के कोबाल्ट भंडार बहुत अधिक नहीं हैं। इतनी सारी कंपनियां सोडियम पर विचार कर सकती हैं। सोडियम आयन बैटरी की बात करें तो प्रति घंटे 160-170 वाट बिजली प्रति किलोग्राम मिलती है। नई तकनीक के आने से सोडियम की क्षमता बढ़कर 200 वाट प्रति घंटा हो गई है।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button