देश

बिहार में गंगा में बहकर आए 40 शव

कोरोना संक्रमण की मार झेल रहे बिहार BIHAR से एक भयावह तस्वीर सामने आई है। बिहार के बसर में गंगा घाटों GANGA पर बहकर आए हुए शव जमा हो गए हैं। हालांकि प्रशासन ने इस मामले में अपना पल्ला झाड़ते हुए यह कह दिया है कि ये सभी लाशें उप्र से बहकर आईं हैं। ज्ञात हो कि पिछले दिनों UP में हमीरपुर के निकट गंगा नदी में कई लाशें तैरती हुई देखी गई थी। जिसके बाद यह आशंका व्यक्त की गई थी कि लोगों ने कोरोना संक्रमण के डर के चलते शवों का संस्कार करने के बजाय पानी में बहा दिया है। बसर प्रशासन के मुताबिक जिले के घाटों पर करीब 40 से 45 लाशें जमा है जो अलग अलग जगहों से बहकर यहां इक्कठा हो गई है। साथ ही प्रशासन ने यह भी कहा कि ये लाशें यहां की नहीं हैं, लगता है कि ये उारप्रदेश से बहकर आईं हैं। इसलिए इन लाशों का अंतिम संस्कार करने का विचार किया जा रहा है। वहीं बसर के एसडीएम के के उपाध्याय ने भी इस मामले में पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि ये बिहार की नहीं उप्र की लाशें हो सकती हैं, योंकि यहां लाशों को बहाने की परंपरा नहीं है। 

पिछले दिनों में बसर के श्मशान घाटों पर क्षमता से अधिक लाशों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। जिससे कई शवों के अंतिम संस्कार करने में दिकतें आ रही हैं। इसलिए कई लोग स्वजनों के शव का अंतिम संस्कार करने की बजाय उसे नदी में बहा दे रहे हैं। पिछले दिनों बसर के चौसा घाट पर 16 शवों को नदी में बहाया गया था। पिछले दिनों हमीरपुर, उप्र में यमुना नदी में दर्जनों शव को नदी में बहता हुआ देखा गया था। जिसके बाद कहा गया था कि ग्रामीण इलाकों में लोग कोरोना संक्रमण के डर के चलते कई शवों को बिना जलाए हुए ही बहा रहे हैं। वैसे हमीरपुर व कानपुर के कुछ इलाकों में यमुना नदी को मोक्ष दाहिनी कालिंदी के रूप में माना जाता है। जिसकी वजह से कुछ लोग स्वजनों के शव को यमुना में बहा देते हैं।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button