देश

विधानसभा उपचुनाव में मिली करारी हार के बाद बीजेपी को पुराने नेताओं की आने लगी याद

Rajasthan BJP latest news: राजस्थान विधानसभा उपचुनावों में करारी के बाद अब बीजेपी को अपने पुराने नेताओं की याद सताने लगी है. इसी के चलते हाल में राजस्थान दौरे पर आये पार्टी के प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने पहली बार जयपुर में विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष कैलाश मेघवाल और पूर्व मंत्री घनश्याम तिवाड़ी के घर पर जाकर उनसे मुलाकात की.

जयपुर। राजस्थान में हाल ही में हुए दो विधानसभा उपचुनावों में बीजेपी की करारी हार के बाद पुराने नेताओं को पार्टी में शामिल करने के लिए राजी करने का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने पार्टी से दूरी बनाए रखने वाले नेताओं से मेल मीटिंग शुरू कर दी है. इसके तहत प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने हाल ही में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल और पूर्व मंत्री घनश्याम तिवारी के जयपुर दौरे के दौरान उनसे मुलाकात की थी.

वीडियो – भाजयुमो पदाधिकारी से खास बात, क्लीक करे

विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल उदयपुर संभाग में जनसंघ युग के सबसे मजबूत नेताओं में से एक माने जाते हैं। लेकिन हाल ही में हुए उदयपुर संभाग में दोनों विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में टिकट वितरण से लेकर चुनाव प्रचार तक मेघवाल की अनदेखी की गई. वहीं, विपक्ष के नेता गुलाबचंद कटारिया और उनके बीच ‘शीत युद्ध’ की स्थिति बनी हुई है। कैलाश मेघवाल को वसुंधरा राज का करीबी माना जाता है। हाल ही में सितंबर में मेघवाल ने केंद्रीय नेतृत्व को पत्र लिखकर कटारिया और प्रदेश नेतृत्व पर हमला बोला था. उसके बाद दोनों उपचुनावों में पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था।

मेघवाल ने कहा- उदयपुर संभाग की राजनीति पर कोई टिप्पणी नहीं
मेघवाल और अरुण सिंह के बीच डेढ़ घंटे तक चली बातचीत में विधायक कालीचरण सराफ मौजूद रहे. अरुण सिंह के मेघवाल के घर पहुंचने से पहले ही वे वहां पहुंच गए. कैलाश मेघवाल ने कहा कि पार्टी के संगठनात्मक मुद्दों पर अरुण सिंह से चर्चा की गई है. इसने राज्य भाजपा के संगठन में और सुधार करने का आह्वान किया। लेकिन जब मेघवाल से हाल ही में वायरल हुए उनके लेटर बम मामले के बारे में पूछा गया, जिसमें उदयपुर संभाग का मुद्दा और पिछले दो उपचुनावों में पार्टी की करारी हार शामिल है, तो उन्हें सीधे ‘नो कमेंट’ कहा गया।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button