मध्यप्रदेश

Air pollution : ऊर्जाधानी में फिर बढ़ा वायु प्रदूषण एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 300 के पार

Air pollution : जिले में वायु प्रदूषण की सबसे खराब स्थिति मोरवा व जयंत क्षेत्र में है। सरई में भी कोयला परिवहन से वायु की गुणवत्ता खराब हो रही है। इसके अलावा दुद्धिचुआ, निगाही व नवानगर में भी हवा सांस लेने योग्य नहीं रह गई है।

Air pollution : ऊर्जाधानी में फिर बढ़ा वायु प्रदूषण एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 300 के पार
Air pollution : ऊर्जाधानी में फिर बढ़ा वायु प्रदूषण एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 300 के पार

Air pollution : वायु प्रदूषण का यह स्तर होने के बावजूद जिम्मेदार अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। वायु प्रदूषण के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी मौसम में नमी को जिम्मेदार मान रहे हैं।

Air pollution : 300 एक्यूआइ में बीमार होने जैसी स्थिति
प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों के मुताबिक एक्यूआइ यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स 100 से कम है तो उसे संतोषजनक माना जाता है। एक्यूआइ 100 से 200 तक होने पर सांस लेने में लोग असहज महसूस करने लगते हैं।
एक्यूआइ 200 से अधिक है तो इसे वायु गुणवत्ता की खराब स्थिति माना जाता है। इस हवा में दमा व एजर्ली के मरीज बीमार हो जाते हैं। एक्यूआइ 300 से अधिक होता है तो वह श्वसन तंत्र को प्रभावित करता है।
Air pollution : ऊर्जाधानी में फिर बढ़ा वायु प्रदूषण एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 300 के पार
Air pollution : ऊर्जाधानी में फिर बढ़ा वायु प्रदूषण एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 300 के पार
Air pollution : प्रदेश में सिंगरौली की स्थिति सबसे खराब
वर्तमान में जिले में प्रदूषण का जो स्तर है, वह दिल्ली, नोएडा व गाजियाबाद सरीखे है। दिल्ली में मंगलवार को एक्यूआइ 368, नोएडा 311 और गाजियाबाद में 314 दर्ज किया गया है।
बात प्रदेश की करें तो भोपाल, इंदौर, जबलपुर व कटनी की स्थिति सिंगरौली की तुलना में काफी बेहतर है। भोपाल में एक्यूआइ 113, इंदौर में 127, जबलपुर में 148 और कटनी में 92 दर्ज किया गया है।

सुलेखा साहू

समाचार संपादक @ हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें)समाचार / लेख / विज्ञापन के लिए संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button