मध्यप्रदेश

कोरोना की दहशत के बीच जून में कॉलेजों की परीक्षाएं कराने का ऐलान

 जबलपुर कोविड -19 के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए उच्च शिक्षा विभाग ने निर्णय लिया था कि स्रातक प्रथम, द्वितीय तथा अंतिम वर्ष या स्नातकोत्तर, द्वितीय तथा चतुर्थ सेमेस्टर की समस्त परीक्षाएं ओपन बुक पद्धति से कराई जाएंगी। उक्त निर्णय के तहत ही उच्च शिक्षा ने ओपन बुक परीक्षाओं के आयोजन को लेकर एक निर्देश जारी किया है। जिसके तहत स्नातक अंतिम वर्ष या स्रातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं जून में आयोजित की जाएंगी तथा परीक्षा परिणाम जुलाई में घोषित किया जाएगा। इसी तरह स्नातक प्रथम वर्ष द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षाएं जुलाई 2021 में आयोजित की जाएंगी तथा परीक्षा परिणाम अगस्त 2021 में घोषित किया जाएगा। वहीं स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर पर शेष प्रयोग एक परीक्षाएं ओपन बुक परीक्षा की समाप्ति के बाद आयोजित की जाएंगी। उच्च शिक्षा विभाग से मिले निर्देश के उपरांत विश्वविद्यालयों में परीक्षाओं के आयोजन को लेकर हलचल तेज हो गई हैं, लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन कोरोना संक्रमण को लेकर अभी चिंतित है, क्योंकि प्रदेश के लगभग सभी प्रमुख जिलों में कोरोना जनता कर्फ्यू लगा हुआ है। उदाहरण के तौर पर जबलपुर में 17 मई तक कोरोना जनता कर्फ्यू लगा हुआ है। जिसके चलते विश्वविद्यालय बंद है। अति आवश्यक सेवाओं को छोड़कर किसी भी विभाग के कर्मचारियों को नहीं बुलाया जा रहा है। वहीं जून माह में संक्रमण की स्थिति क्या रहेगी। इसके लेकर भी असमंजस हैं क्योंकि जानकार तीसरी लहर की बात कर रहे हैं। हालांकि रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय प्रशासन की बात करें तो उनका दावा है कि परीक्षाओं की तैयारियां पूरी हैं। उन्हें ओपन बुक परीक्षाएं पिछले सत्र में भी करायी थी, लिहाजा पूर्व का अनुभव काम आएगा। बस इंतजार लॉक डाउन खुलने का है।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button