मनोरंजन

Ayodhya Ram Mandir : अयोध्या राम मंदिर में पवित्र अनुष्ठान का अखिलेश यादव को मिला निमंत्रण

Ayodhya Ram Mandir : अयोध्या का विशाल रामल्ला मंदिर बनकर तैयार है. 22 जनवरी को मंदिर में रामलला का भोग लगेगा. राम मंदिर के उद्घाटन (temple inauguration) को लेकर देशभर में उत्साह का माहौल है. इस दिन का हर राम भक्त को बेसब्री से इंतजार था.

Ayodhya Ram Mandir : अयोध्या राम मंदिर में पवित्र अनुष्ठान का अखिलेश यादव को मिला निमंत्रण
photo by social media

Ayodhya Ram Mandir : मॉरीशस में छुट्टियों में आपका स्वागत है

  • राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के दौरान सरकारी अधिकारियों के लिए 2 घंटे की छुट्टी की घोषणा करने के मॉरीशस सरकार के फैसले पर मॉरीशस सनातन धर्म मंदिर महासंघ के अध्यक्ष भोजराज घुरबीन ने कहा कि मॉरीशस में हमारे लिए यह बहुत बड़ा और बहुत बड़ा फैसला है।

हमारे प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनाथ ने ये फैसला लिया है. हम दुनिया के पहले देश हैं जिसके प्रधानमंत्री ने हमें 22 जनवरी को 2 घंटे की छुट्टी देने का फैसला किया है। मुझे उम्मीद है कि वे (अन्य देश) हमारी बात समझेंगे कि प्रधानमंत्री हमें 2 घंटे की छुट्टी दे रहे हैं और वे हमारे भाइयों और बहनों के लिए भी ऐसा ही करेंगे।

Ayodhya Ram Mandir : इस पवित्र समारोह में अखिलेश यादव को निमंत्रण मिला है

पवित्र समारोह के लिए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को निमंत्रण पत्र मिल गया है. इसके लिए उन्होंने श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र अयोध्या के महासचिव चंपत राय को धन्यवाद दिया और कहा कि प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद वह अपने परिवार के साथ अयोध्या आएंगे।

  • रामलला की मूर्ति के समक्ष विधि-विधान से पूजा-अर्चना की तैयारी की जा रही है. उन्होंने श्री राम जन्मभूमि अयोध्या के अभिषेक के लिए हार्दिक निमंत्रण के लिए धन्यवाद दिया और समारोह के सुरक्षित समापन की भी कामना की।
Ayodhya Ram Mandir : अयोध्या राम मंदिर में पवित्र अनुष्ठान का अखिलेश यादव को मिला निमंत्रण
photo by social media

Ayodhya Ram Mandir : उद्धव बोले- ‘राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का सम्मान करना चाहिए’

22 जनवरी को अयोध्या के राम मंदिर में पवित्र संस्कार होना है. भगवान राम के बाल स्वरूप का अभिषेक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे. इस बीच महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है

कि राम मंदिर की पवित्रता का मामला राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू (President Draupadi Murmu) के पास जाना चाहिए. उद्धव ने कहा, यह ‘राष्ट्रीय गौरव और देश के गौरव’ का मामला है। उन्होंने कहा कि वह राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को नासिक के कालाराम मंदिर में आमंत्रित करेंगे.

Ayodhya Ram Mandir : रामलला भोग के लिए काशी से हवन सामग्री भेजी गई थी

अयोध्या में श्रीरामलला के जलाभिषेक के लिए शुक्रवार को काशी से हवन सामग्री भेजी गई। इंग्लिशिया लाइन स्थित विश्व हिंदू परिषद कार्यालय से वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया.

परिषद के नगर अध्यक्ष कन्हाईलाल सिंह व अन्य पदाधिकारियों व महिलाओं ने राम ध्वज फहराया तथा नारियल फोड़कर जय श्रीराम के जयघोष के साथ वाहन को रवाना किया। कन्हैयालाल सिंह ने बताया कि पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित, पंडित गणेश्वर शास्त्री द्रविड़ एवं सहायक आचार्य पंडित गजनाद जोतकर के निर्देशन में हवन पूजन एवं सामग्री तैयार की गई है।

Ayodhya Ram Mandir : छत्तीसगढ़ के सभी प्रसिद्ध मंदिर 22 जनवरी को चमकेंगे

22 जनवरी को अयोध्या में रामलला प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर छत्तीसगढ़ में बड़े पैमाने पर भक्तिमय सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। इस दिन प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों और तहसीलों के प्रतिष्ठित मंदिरों में कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे.

आम जनता, मानस मंडलों, स्थानीय शहरी निकायों, ग्राम पंचायतों, धार्मिक ट्रस्टों और मंदिर (Religious Trusts and Temples) समितियों की भागीदारी से कार्यक्रम तैयार किए जाएंगे। मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने वर्चुअल बैठक में सभी कलेक्टरों को आयोजन की जानकारी दी।

Ayodhya Ram Mandir : अयोध्या ही नहीं भगवान श्री राम के ये मंदिर भी हैं बेहद मशहूर

  • लोग श्री राम को अपना आदर्श मानते हैं, जिन्हें भगवान विष्णु का अवतार कहा जाता है। कहा जाता है कि उनका जन्म उत्तर प्रदेश के अयोध्या जिले में हुआ था। चूंकि अयोध्या श्री राम (Ayodhya Shri Ram) की जन्मभूमि है, इसलिए वहां एक विशाल राम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है।

जिसका निर्माण अगले वर्ष पूरा कर लिया जाएगा। बताया जा रहा है कि मंदिर के पुनर्निर्माण के बाद अगले साल मकर संक्रांति के दिन राम लला को एक बार फिर यहां स्थापित किया जाएगा।

Ayodhya Ram Mandir : अयोध्या राम मंदिर में पवित्र अनुष्ठान का अखिलेश यादव को मिला निमंत्रण
photo by social media

Ayodhya Ram Mandir : राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र से पहले काशी में रामालय ट्रस्ट का गठन किया गया था.

किसी से जाति नहीं पूछनी चाहिए. हरि को भजय सो हरि का होई… का संदेश दुनिया भर में फैलाने वाले रामानंद संप्रदाय ने दशकों पहले अयोध्या में विशाल राम मंदिर बनाने की पहल की थी।

  • इस मुद्दे को अदालत के बाहर सुलझाने के लिए 1994 में रामानंद संप्रदाय के विभिन्न प्रतिनिधियों को एक साथ लाकर रामालय ट्रस्ट का गठन किया गया था। काशी के पंचगंगा घाट पर श्रीमठ के प्रमुख रामनरेशाचार्य को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के समन्वय की जिम्मेदारी भी सौंपी गई थी।

हालांकि, तत्कालीन तंत्राचार्य स्वामी चंद्रास्वामी को ट्रस्ट (Swami Chandraswami Trust) में शामिल करने के प्रस्ताव पर विवाद खड़ा हो गया और फिर रामालय ट्रस्ट मंदिर निर्माण के लिए अभियान तेज नहीं कर सका.

Also Read –  Bridal Mehndi Design : मेहंदी की ये खूबसूरत डिज़ाइन ब्राइडल के हाथो पर खूब जचेगी

सुलेखा साहू

समाचार संपादक @ हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें)समाचार / लेख / विज्ञापन के लिए संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button