मनोरंजन

Banarasi saree : राम मंदिर की ‘थीम’ वाली साड़ियों के लिए विदेशों से आ रहे ऑर्डर, बनारसी साड़ी बुनकरों में उत्साह

Banarasi saree : अयोध्या अपने राम महोत्सव के लिए तैयार हो रही है. 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की गई. भगवान राम की भेंट उनके ससुर जनकपुर से अयोध्या पहुंची। वहीं, राम मंदिर की ‘थीम’ पर बनी बनारसी साड़ियां फैशन ( Fashion ) की दुनिया में तहलका मचाने के लिए पूरी तरह तैयार हैं और बुनकर इन साड़ियों के पल्लू को खूबसूरत बनाने का काम कर रहे हैं.

Banarasi saree : राम मंदिर की ‘थीम’ वाली साड़ियों के लिए विदेशों से आ रहे ऑर्डर, बनारसी साड़ी बुनकरों में उत्साह
photo by social media

बुनकरों को विभिन्न साड़ी डिजाइनों के लिए ‘ऑर्डर’ मिले, जिनमें साड़ी के पलू पर राम मंदिर की आकृति, भगवान राम के जीवन से संबंधित डिजाइन  (Design  )भी शामिल थे। मंदिर के पहले चरण का काम पूरा होने वाला है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 जनवरी को राम मंदिर के उद्घाटन समारोह में शामिल होंगे।

Banarasi saree : सुप्रीम कोर्ट ने 2019 में अपना फैसला सुनाया

सुप्रीम कोर्ट ने 2019 में एक ऐतिहासिक फैसले में एक सदी से भी ज्यादा पुराने मंदिर-मस्जिद विवाद का निपटारा कर दिया। अदालत ने विवादित स्थल पर राम मंदिर के निर्माण को बरकरार रखा और फैसला सुनाया कि मस्जिद के निर्माण के लिए वैकल्पिक  (optional) पांच एकड़ जमीन दी जानी चाहिए। जैसे-जैसे अयोध्या में राम मंदिर में ‘प्राण उत्सव’ की तैयारी चल रही है, देश भर के बुनकर अनूठी रचनाओं के साथ मंदिर के उद्घाटन के लिए अपना उत्साह व्यक्त कर रहे हैं।

Banarasi saree : बुनकरों में उत्साह

मोबारकपुर क्षेत्र के बुनकर अनीशुर्रहमान ने कहा कि इस भव्य आयोजन को लेकर वाराणसी के बुनकर समाज में काफी उत्साह है। रहमान ने कहा कि ऐतिहासिक विशेषताओं  (characteristics) वाली डिजाइन वाली साड़ियों की भारी मांग है, लेकिन राम मंदिर के प्रति भावना बिल्कुल अलग है।

  • हम राम मंदिर की ‘थीम’ में साड़ियां बना रहे हैं और यह जल्द ही फैशन की दुनिया में धूम मचाने के लिए तैयार है। हमें देश के विभिन्न हिस्सों से महिलाओं  (Woman ) से ‘ऑर्डर’ मिले हैं जो अपने-अपने स्थानों पर 22 जनवरी का जश्न मनाने के लिए यह साड़ी पहनना चाहती हैं।

इस महीने उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भगवान राम के अभिषेक समारोह से पहले, राम मंदिर की ‘थीम’ में बनी बनारसी साड़ियां फैशन  (Fashion ) की दुनिया में धमाल मचाने के लिए तैयार हैं और बुनकर इन साड़ियों का पल्लू बनाने पर काम कर रहे हैं।

सुन्दर रहा है बुनकरों को विभिन्न साड़ी डिजाइनों के लिए ‘ऑर्डर’ मिले, जिनमें साड़ी के पलू पर राम मंदिर की आकृति, भगवान राम के जीवन से संबंधित डिजाइन भी शामिल थे।

Banarasi saree : राम मंदिर की ‘थीम’ वाली साड़ियों के लिए विदेशों से आ रहे ऑर्डर, बनारसी साड़ी बुनकरों में उत्साह
photo by social media

Banarasi saree : तीन प्रकार की साड़ियां तैयार हो रही हैं

राम मंदिर की ‘थीम’ में किस तरह की साड़ियां बनाई जा रही हैं, इसके बारे में बताते हुए रहमान ने कहा, एक तरह की साड़ियों के पल्लू पर राम मंदिर का शिलालेख है, ये साड़ियां लाल और पीले रंग में बनाई जा रही हैं और शिलालेख सोने में है।

  • रंग अन्य प्रकार की साड़ियाँ कई रंगों में उपलब्ध  (Available ) होती हैं और उनके बॉर्डर पर ‘श्री राम’ लिखा होता है। तीसरे प्रकार की साड़ी में भगवान राम के बचपन से लेकर रावण के वध तक उनके जीवन के विभिन्न चरणों को दर्शाया गया है।
  • अदालत ने विवादित स्थल पर राम मंदिर के निर्माण को बरकरार रखा और फैसला सुनाया कि मस्जिद के निर्माण के लिए वैकल्पिक पांच एकड़ जमीन दी जानी चाहिए। जैसे-जैसे अयोध्या राम मंदिर की ‘प्राण प्रतिष्ठा’ की तैयारी कर रही है, देश भर के बुनकर अनूठी रचनाओं के साथ मंदिर के उद्घाटन के लिए अपना उत्साह व्यक्त कर रहे हैं।
  • मंदिर के पहले चरण का काम पूरा होने वाला है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 जनवरी को राम मंदिर के उद्घाटन समारोह में शामिल होंगे। 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक  (historical) फैसला सुनाया और एक सदी से भी ज्यादा पुराने मंदिर-मस्जिद विवाद का निपटारा कर दिया.

Banarasi saree : अमेरिका से ऑर्डर मिले

यहां पीली कोठी क्षेत्र के एक अन्य बुनकर मदन ने कहा कि पल्लू पर ‘राम दरबार’ वाली साड़ियां भी काफी मांग में हैं। हमें राम मंदिर-थीम वाली साड़ियों के लिए अमेरिका से भी दो ऑर्डर (Order  )मिले। उन्होंने बताया कि इन साड़ियों की कीमत 7 हजार टका से लेकर 1 लाख टका तक है.

मुबारकपुर क्षेत्र के बुनकर अनीसुर रहमान ने कहा कि इस भव्य आयोजन को लेकर वाराणसी के बुनकर समुदाय में काफी उत्साह है। रहमान ने पीटीआई-भाषा से कहा, ”ऐतिहासिक विशेषताओं के साथ डिजाइन की गई साड़ियों की हमेशा भारी मांग रही है, लेकिन राम मंदिर के प्रति भावना बिल्कुल अलग है।”

उन्होंने कहा, “हम राम मंदिर थीम पर साड़ियां बना रहे हैं और यह जल्द ही फैशन की दुनिया में तूफान लाने के लिए तैयार है। हमें देश के विभिन्न हिस्सों से महिलाओं  (Woman) से ‘ऑर्डर’ मिले हैं जो यह साड़ी पहनकर अपने-अपने यहां 22 जनवरी का जश्न मनाना चाहती हैं।

Banarasi saree : राम मंदिर की ‘थीम’ वाली साड़ियों के लिए विदेशों से आ रहे ऑर्डर, बनारसी साड़ी बुनकरों में उत्साह
photo by social media

Banarasi saree : ‘लाल और पीले रंग में बनाई जा रही है साड़ी’

  • Banarasi saree : राम मंदिर ‘थीम’ पर बनाई जा रही साड़ियों के प्रकार के बारे में बताते हुए रहमान ने कहा, “एक प्रकार की साड़ियों पर राम मंदिर का शिलालेख  (Inscription) है; ये साड़ियां लाल और पीले रंग में बनाई जा रही हैं और इन पर सोने का शिलालेख है। अन्य प्रकार की साड़ियाँ कई रंगों में उपलब्ध होती हैं और उनके बॉर्डर पर ‘श्री राम’ लिखा होता है।

पीली कोठी क्षेत्र के एक अन्य बुनकर मदन ने कहा कि पल्लू पर ‘राम दरबार’ लिखी साड़ियों की भी काफी मांग है। मदन ने कहा, “हमें अमेरिका से राम मंदिर-थीम वाली साड़ियों के लिए दो ऑर्डर  (Order) भी मिले हैं।” उन्होंने बताया कि इन साड़ियों की कीमत 7 हजार टका से लेकर 1 लाख टका तक है.

Also Read –  Bridal Mehndi Design : मेहंदी की ये खूबसूरत डिज़ाइन ब्राइडल के हाथो पर खूब जचेगी

सुलेखा साहू

समाचार संपादक @ हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें)समाचार / लेख / विज्ञापन के लिए संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button