मध्यप्रदेशरीवासतनासिंगरौलीसीधी

रेमडेसिविर की कालाबाजारी – मेडिकल कॉलेज के तीन कर्मचारी बर्खास्त

कोरोना के अति गंभीर मरीजों को दिए जाने वाले Remedicivir Injection की Black marketingका एक बड़ा सनसनीखेज मामला सामने आया है। Medical College Shahdol के तीन कर्मचारियों ने शासन द्वारा एलॉट किए गए इंजेक्शन अस्पताल में भर्ती मरीजों को न लगाकर निजी व्यक्ति को बेचे हैं।

जानकारी के बाद जब पुलिस खुद ग्राहक बनकर इंजेक्शन लेने पहुंची तब यह मामला प्रकाश में आया। इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। Medical College Shahdol के अधिष्ठाता डॉ. मिलिंद शिरालकर ने तीनों कर्मचारियों की सेवा समाप्त कर दी है। गौरतलब है कि पूरे देश में महामारी का रूप ले चुके कोरोना ने जमकर तबाही मचाई है। विंध्य के रीवा, सीधी, सतना, सिंगरौली, शहडोल, उमरिया में अब तक 6सौ से ज्यादा लोगों ने इस महामारी से अपनी जान गंवाई है। चौंकाने वाली बात यह है कि संक्रमण से जूझ रहे मरीजों को फिर से नई जिंदगी देने के लिए जहां शासन ने Remedicivir Injection का एलॉटमेंट सभी जिलों को जारी किया है। वहीं अस्पताल के कर्मचारी ही इसकी कालाबाजारी में जोरों से जुट गए हैं।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button