उत्तर प्रदेशक्राईम न्यूज

सड़क बनाने खेत में खोदा गड्ढा डूबने से भाई-बहन की मौत

 चित्रकूट नगर के नयागांव थाना क्षेत्र में दो बच्चों की डूबने से मौत हो गई। घटना के बाद गुस्साए लोगों ने सड़क पर शव रखकर हंगामा किया। प्रशासन ने मृतकों के परिजनों को 4- 4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। हासिल जानकारी के अनुसार हनुमान धारा बाईपास निवासी पप्पू वर्मा के दो बच्चे दीपक 7 वर्ष व उसकी बहन निराशा 4 वर्ष की दोपहर को पानी में डूबने से मौत हो गई। बताया गया है कि पीड़ित के खेत की मिट्टी बाईपास रोड बनने में निकाली गई थी, जिस कारण वहां एक छोटा तालाब निर्मित हो गया था। बारिश के चलते इस तालाब में जलभराव हो गया। दोनों बच्चे अपने ही घर के पीछे खेत में खेल रहे थे। पिता दिहाड़ी मजदूर है, बच्चों की मां भी घरेलू काम में व्यस्त थी। परिवार का एक अन्य सदस्य जब खेत की तरफ पहुंचा तब तक दोनों बच्चे पानी में डूब चुके थे। बुधवार सुबह परिवार जनों ने चित्रकूट नगर के मुख्य स्थान मध्य प्रदेश टूरिस्ट बंगला, एमपीटी तिराहा, भरत घाट, चित्रकूट-सतना मार्ग में जाम लगाकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के कारण लगभग 45 मिनट तक लिए मुख्य सड़क मार्ग में आवागमन बंद रहा।

प्रदर्शन की सूचना पर तत्काल नयागांव थाना प्रभारी इंस्पेक्टर संतोष तिवारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। परिवार जन प्रशासन से न्याय की मांग करते हुए संबंधित ठेकेदार पर कार्रवाई एवं खेत के गड्ढे को पाटने की मांग करने लगे। पुलिस प्रशासन ने परिवार को समझाने और जाम खुलवाने कि कोशिश की परंतु लोग सक्षम अधिकारी के आने तक अपनी मांग पर डटे रहे। परिवार ने ठेकेदार पर आरोप लगाया कि बायपास रोड बनाने के दौरान जबरन उनके खेत से मिट्टी निकाली गई विरोध करने पर उन्हें तब धमकी दी गई थी, इसलिए ठेकेदार पर कार्रवाई होनी चाहिए और उस गड्ढे को भी पाटा जाए। इस बीच स्थानीय जनप्रतिनिधि भाजपा मंडल अध्यक्ष राव प्रबल श्रीवास्तव एवं अन्य भाजपाईयों ने परिजनों से मुलाकात कर हर संभव मदद का आश्वासन दिया। मुख्य सड़क मार्ग में प्रदर्शन और मामले की गंभीरता को देखते हुए चित्रकूट नायब तहसीलदार ऋषि नारायण सिंह तत्काल मौके पर पहुंचे और परिजनों से इस संदर्भ में बात की। परिवार को शासकीय आर्थिक सहायता के तहत चार- चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता एवं अंतिम संस्कार की व्यवस्था नगर पंचायत चित्रकूट द्वारा करने की बात कही। प्रशासनिक आश्वासन के बाद परिजन मुख्य सड़क मार्ग से हट गए। पुलिस बल एवं नगर पंचायत चित्रकूट सीएमओ की मौजूदगी में अंतिम संस्कार कराया गया। मुख्य सड़क मार्ग बाधित होने के चलते कई लोग फंसे नजर आये। विशेष रूप से आॅफिस आने जाने वाले लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ा। पीड़ित पिता पप्पू वर्मा की चार संताने थी जिसमें से एक लड़के की कुछ वर्ष पूर्व ही पानी में डूबने से ही मौत हो गई थी। मंगलवार को दो और बच्चों की भी पानी में डूबने से ही मौत हो गई। परिवार जनों का रो-रो कर बुरा हाल था। ऋषि नारायण सिंह नायब तहसीलदार ने तत्काल कार्रवाई करते हुए हल्का पटवारी को निर्देशित किया और पीड़ित परिवार को शासकीय सहायता देने की औपचारिकता को पूर्ण करा कर जिला प्रशासन को अवगत कराते हुए मृतक बच्चों के पिता को आर्थिक सहायता से संबंधित पत्र सौंपा गया।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button