मध्यप्रदेश

CDS Bipin Rawat Death: MP के शहडोल में था जनरल बिपिन रावत की ससुराल, Rewa राजघराने से भी था इनका ताल्लुक, जानिए

CDS Bipin Rawat Death: आर्मी चीफ सहित सैन्य अधिकारियों को लेकर जा रहा हेलिकॉप्टर तमिलनाडु में कुन्नूर के जंगलों में क्रैश हो गया। इस घटना से पूरे देश में शोक की लहर फ़ैल गई है. चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (Chief of Defense Staff General Bipin Rawat) ने भी अस्पताल में दम तोड़ दिया है. वही इस हादसे में इनकी पत्नी की भी मौत हो गई है. अभी तक 13 लोगो के मौत की पुष्टि हो चुकी है. विंध्य व शहडोल में भी शोक की लहर दौड़ गई है। दरअसल आर्मी चीफ का यहां से गहरा रिश्ता था। उनकी ससुराल शहडोल जिले के सोहगपुर मे थी।

रियासतदार की बेटी है उनकी पत्नी

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (Chief of Defense Staff General Bipin Rawat) की ससुराल शहडोल जिले के सोहागपुर में थी। उनकी पत्नी मधुलिका सिंह रियासतदार कुंवर मृगेंद्र सिंह की मंझली बेटी थी। बताया जा रहा है कि मधुलिका सिंह ने दो दिन पूर्व मायके वालों से बात भी की थी। उन्होने बताया था कि वे दो दिन बाहर रहेंगी। रावत की दो बेटियां हैं। बड़ी बेटी कृतिका रावत की शादी मुंबई में हुई है। वहीं, छोटी बेटी तारिणी रावत अभी पढाई कऱ रही हैं।

36 वर्ष पूर्व हुई थी शादी

रीवा घराने से ताल्लुक रखने वाले मृगेंद्र सिंह की बेटी मधुलिका की शादी अर्मी चीफ विपिन रावत से लगभग 36 वर्ष पूर्व 1985 में हुई थीं। मधुलिका के पिता सोहागपुर से 1967 और 1972 में दो बार कांग्रेस से विधायक रहे। परिवार की माने तो मधुलिका 2012 में शहडोल आई थीं। खबरों के तहत हादसे की जानकारी लगते ही मधुलिका के भाई यशवर्धन भोपाल से दिल्ली रवाना हो गए।

दो बार एमपी आए थें आर्मी चीफ

सीडीएस जनरल बिपिन रावत तीन महीने पहले दतिया आए थे। उन्होंने यहां शक्तिपीठ मां पीतांबरा एवं भगवान वनखण्डेश्वर महादेव की पूजा-अर्चना किए थें। तो वही जनरल बिपिन रावत दो वर्ष पूर्व इंदौर के महू में सेना की दो साल में होने वाली कमांडर कॉन्फ्रेंस में शामिल होने आए थे। उन्होंने सैन्य संग्रहालय पहुच कर एंटी टैंक मिसाइल को देखा था।

 

Source – www.rewariyasat.com

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button