राशिफल

ये माला का जाप कर देता है मालामाल, प्रसन्न हो जाती है मां लक्ष्मी

मां लक्ष्मी (ये माला का जाप )को धन की देवी कहा जाता है। इस समय हर कोई अमीर बनना चाहता है, इसलिए लक्ष्मी देवी को प्रसन्न करने के उपाय खोजती रहती हैं। हिंदू धर्म में प्रत्येक देवता की पूजा करने की अलग-अलग विधियाँ, उनके विशेष मंत्र आदि बताए गए हैं।

मंत्रों (ये माला का जाप )के जाप से मन एकाग्र और स्थिर हो जाता है और एकाग्रता के साथ साधना करना संभव होता है। यदि आपकी कुंडली में शुक्र कमजोर है और आप जीवन में आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं,

तो आपको देवी लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए और उनके मंत्रों का जाप करना चाहिए। यदि माता लक्ष्मी प्रसन्न हों तो जीवन में धन,(ये माला का जाप) अन्न, सुख, समृद्धि, उन्नति, प्रेम आदि का अभाव नहीं रहता। कांच की ये माला का जाप से मां लक्ष्मी का जप करें।

आर्थिक स्थिति, शुक्र की शक्ति और मां लक्ष्मी की प्रसन्नता के लिए क्रिस्टल माला से मां लक्ष्मी के मंत्रों का जाप करना चाहिए। कांच एक रंगहीन, पारदर्शी पत्थर है। इसे शुद्ध क्रिस्टल या सफेद क्रिस्टल कहा जाता है। यह कांच जैसा दिखता है।

बर्फ से ढके पहाड़ों में बर्फ के नीचे टुकड़ों के रूप में क्रिस्टल पाए जाते हैं। स्फटिक की माला से मां दुर्गा और मां सरस्वती के मंत्रों का जाप भी किया जा सकता है।

ये माला का जाप कर देता है मालामाल, प्रसन्न हो जाती है मां लक्ष्मी

जाप करने का सही तरीका जानें
जप का पूरा उपयोग करने के लिए, आपको सही विधि जानने की जरूरत है।

किसी भी मंत्र का जाप करते हुए किसी शुद्ध ऊनी आसन को जमीन पर बिछाकर पद्मासन या सुखासन में बैठ जाएं। माला का प्रयोग करने से पहले उसे शुद्ध पानी से धोकर तिलक लगाएं। अपने दाहिने हाथ में मनका लें और पूर्व की ओर मुख करें।

इसके बाद मध्यमा अंगुली पर माला रखकर अंगूठे से मनका हटाते हुए जाप करें। इस दौरान कील के मोतियों को नहीं छूना चाहिए। साथ ही माला को नाभि के नीचे और नाक के ऊपर न रखें। मोतियों की माला छाती से लगभग 4 अंगुल दूर होनी चाहिए।

ये माला का जाप के बाद वहां से वापिस आ जाएं और अगली माला का जाप करें। हार के ऊपर का मोती, जिसे आर्कटिक कहा जाता है, को पार नहीं करना चाहिए। साथ ही मन्त्रों की संख्या भी निर्धारित करनी है

और संकल्प के साथ जप करना है। तभी आपको मिल सकता है फल इन मंत्रों का जाप
– Om श्री ह्रीं क्लीन श्री सिद्ध लक्ष्मी नमः:

– ओम श्री महालक्ष्मी चा विद्माहे विष्णु पटन्याई चा धीमाही तन्नो लक्ष्मी प्रोचोदयत

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button