जबलपुरभोपाल

Collector ने किया अपने आप को दण्डित , रोक दिया खुद अपना ही वेतन

Collector Stopped His Own Salary : मध्य प्रदेश के जबलपुर में एक हैरान कर देने वाला वाकया सामने आया है . CM helpline में लंबित शिकायतों के निस्तारण में हो रही देरी के लिए कलेक्टर ने खुद को सजा दी है। Jabalpur collector ने खुद समेत कई अन्य जिम्मेदार अधिकारियों का दिसंबर का वेतन रोकने का निर्देश (directed to stop the salary) दिया है.

Jabalpur Collector ने कोषाधिकारी को लिखा पत्र

जबलपुर कलेक्टर कर्मबीर शर्मा Jabalpur Collector Karambir Sharma ने सोमवार को जिला कोषाधिकारी को पत्र लिखकर आदेश को तत्काल लागू करने का निर्देश दिया है. कलेक्टर ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर 100 दिन से अधिक समय से लंबित शिकायतों या उनके निराकरण के लिए अधिकारियों का वेतन रोकने के भी निर्देश (directed to stop the salary) दिये हैं.

Jabalpur Collector ने सोमवार को जिला पंचायत कार्यालय के सभागार में सीएम हेल्पलाइन में की गई शिकायतों और उनके निराकरण की समीक्षा की. फिर उन्होंने अन्य अधिकारियों के साथ-साथ खुद के वेतन को भी रोकने का आदेश दिया। कलेक्टर ने अधिकारियों को शिकायतों के निस्तारण को लेकर निर्धारित समय में संवेदनशील रहने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने अधिकारीयों से कहा की कोई शिकायत अनसुनी नहीं होनी चाहिए।

शर्मा ने सफाई और हेल्पलाइन से जुड़े मामलों में लापरवाही बरतने पर उप नगर आयुक्त का वेतन भी रोक दिया. Jabalpur Collector ने कुछ राजस्व मुद्दों को हल करने में लापरवाही के लिए कुछ तहसीलदारों एवं Project Implementation Unit (PIU ) के कार्यकारी अभियंताओं की वेतन वृद्धि (increment of salary) को रोकने के भी निर्देश दिए।

बैठक में शामिल नहीं होने पर जिला विपणन अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाइन को लंबित शिकायतों या समय सीमा के भीतर समाधान करने का निर्देश दिया है. साथ ही 100 दिन से अधिक समय से लंबित शिकायत का 31 दिसंबर तक निस्तारण करने का निर्देश दिया है.

Collector ने किया अपने आप को दण्डित , रोक दिया खुद अपना ही वेतन
Collector ने किया अपने आप को दण्डित , रोक दिया खुद अपना ही वेतन

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button