सिंगरौली

DBL ओबी कंपनी के निष्कासित कर्मचारी पहुंचे कलेक्टोरेट 

सिंगरौली 9 नवम्बर। एनसीएल परियोजना के खदानों में कार्यरत ओवर वर्डन DBL  कंपनियों से निष्कासित श्रमिकों ने आज मंगलवार को कलेक्टोरेट पहुंच जिला प्रशासन से आपबीती सुनाते हुए ओबी कंपनी पर मनमानी करने का गंभीर आरोप मढ़ दिया है।

श्रमिकों ने बताया कि एनसीएल परियोजनाओं के आउट सोर्सिंग DBL कंपनियों ने पिछले दिनों एनसीएल प्रबंधन को बिना पूर्व सूचना के ही डीजल का दर बढ़ाये जाने से नाराज होकर ओबी का काम बंद करने का फैसला किया था। जिसके चलते कोयला उत्खनन पूर्णत: प्रभावित रहा है। वहीं एनसीएल एवं भारत सरकार को कोयला उत्पादन न होने के कारण भारी क्षति उठानी पड़ी थी।
श्रमिकों का आरोप है कि जब DBL ओबी कंपनियों के अधिकारियों से श्रमिकों ने कोयला उत्खनन कार्य अचानक बंद किये जाने का कारण पूछने लगे तो ओबी कंपनी के कर्ताधर्ताओं द्वारा कोई जबाव नहीं दिया जा रहा था। साथ ही श्रमिकों को इस बात का डर था कि हड़ताल के दिन कंपनी पेमेंट करेगी या नहीं इसका भी कोई सार्थक जबाव नहीं मिला है।
श्रमिकों ने आगे बताया कि जब श्रमिकों को काम बंद करने की सूचना हुई तो ओबी कंपनियों ने कार्रवाई से बचने के लिए श्रमिकों का गला फसाते हुए अपने आपको बचने का प्रयास किया है ताकि बोनस एवं पारिश्रमिक भुगतान न देना पड़े। तो वहीं कई श्रमिकों को बाहर का रास्ता भी आज दिखा दिया गया। जिससे निष्कासित श्रमिक कलेक्टर से मिलकर अपनी-अपनी फरियाद करते हुए ओबी कंपनियों पर मनमानी व तानाशाही पूर्ण रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए इनके करतूतों की जांच कराते हुए कार्रवाई किये जाने की मांग की है।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button