भोपालरीवासतना

तलाक-तलाक-तलाक दर्ज हुई एफआईआर

सतना। निकाह के चार माह बाद युवक ने दस लाख रुपए नगद व लग्जरी कार की मांग पूरी न होने पर पत्नी को तलाक दे दिया। महिला के द्वारा तीन तलाक दिए जाने की शिकायत महिला थाना में की गई। महिला की शिकायत पर पुलिस ने युवक के विरुद्ध प्रकरण कायम किया है। तीन तलाक के मामले में जिले में पहली कायमी हुई है। पत्नी को तीन तलाक देने वाला युवक रेलवे का कर्मचारी है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया, लेकिन उसे मुचलके पर रिहा कर दिया गया। पुलिस के द्वारा मामले की विवेचना की जा रही है।

तीन तलाक की पीड़िता शबनम आरा उर्फ सीमा की शिकायत पर महिला थाना पुलिस ने आरोपी मुख्तार अली सिद्दीकी पिता इलियास सिद्दीकी निवासी वसीरन मोहल्ला थाना सिटी कोतवाली के विरुद्ध अपराध क्र. 24/21 धारा 498ए आईपीसी, दहेज प्रतिषेध अधिनियम की धारा 3/4 एवं मुस्लिम महिला (विवाह पर अधिकार का संरक्षण) अधिनियम 2019 की धारा 4 के तहत प्रकरण दर्ज किया। मुस्लिम महिला विवाह पर अधिकार का संरक्षण के तहत तीन तलाक के मामले में जिला पुलिस के द्वारा पहला मुकदमा कायम किया गया है। निकाह के चार माह बाद पत्नी को तीन तलाक देने वाला आरोपी मुख्तार रेलवे में लाइनमैन के पद पर पदस्थ है। प्रकरण दर्ज होने के पश्चात पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। जमानतीय प्रकरण होने की वजह से आरोपी को निजी मुचलके में रिहा कर दिया गया। बताया गय कि आरोपी रविवार को यूपीपीएससी की परीक्षा देने भी गया हुआ था।

मानवी परामर्श केन्द्र में सुलह के उपरांत दोनों पक्षो के बीच आपसी सहमति बनी, लिहाजा 23 जुलाई शुक्रवा की शाम 7 बजे के करीब शबनम आरा उर्फ सीमा अपने भाई नफीस व एक अन्य रिश्तेदार के साथ वसीरन मोहल्ला स्थित ससुराल पहुंची। दरवाजा ससुर इलियास ने खोला। घर के अंदर पहुंचने के कुछ देर बाद ही मुख्तार आया और उसने शबनम को देखते ही गाली-गलौज कर कहा कि मै मुख्तार अली तुम शबनम आरा उर्फ सीमा को तलाक देता हंू, तलाक देता हूं, तलाक देता हूं एक बार में तीन बार तलाक शब्द उच्चारित कर विवाहित पत्नी को परित्यग्य कर दिया। तीन तलाक की शिकार हुई शबनम शनिवार की शाम अपने भाई के साथ महिला थाना पहुंची।

इस संबंध में शबनम आरा उर्फ सीमा 36 वर्ष ने महिला थाना पुलिस को शिकायती आवेदन में बताया कि वह नजीराबाद की रहने वाली है, उसका निकाह 22 मार्च को सिटी कोतवाली अन्तर्गत वसीरन मोहल्ला निवासी मुख्तार अली सिद्दीकी पिता इलियास सिद्दीकी के साथ मुस्लिम रीति रिवाज के साथ सम्पन्न हुआ। मेहर में 21 हजार 786 रुपए अदा किया गया। विवाह के कुछ दिन बाद ही पति मुख्तार के द्वारा दस लाख रुपए नगद व लग्जरी कार की डिमांड की जाने लगी। दहेज की मांग पूरी न होने पर पति के द्वारा शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ना दी जाने लगी। दहेज के लिए पति ने कई बार ससुराल में मारपीट की।

शबनम आरा उर्फ सीमा ने बताया कि 14 मई को ईद के त्यौहार पर कई रिश्तेदार आए हुए थे, सभी की मौजूदगी में मुख्तार के द्वारा दस लाख और कार की डिमांड की गई। पिता के देहांत हो जाने की वजह से परिवार की आर्थिक स्थिति का हवाला देने पर मुख्तार भड़क उठा। मुख्तार ने रिश्तेदारों के सामने मारपीट की और धमकाया कि दस लाख रुपए नगद और कार लाकर नहीं दोगी तो तलाक दे दूंगा। रिश्तेदारों की मौजूदगी में एक तलाक देकर पति ने घर से निकाल दिया और निकाह में मिले जेवर व अन्य सामान जबरिया छीनकर रख लिए।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button