मध्यप्रदेश

सरकारी कर्मचारियों को नहीं मिलेगा नवंबर माह का वेतन

मध्य प्रदेश में सरकारी कर्मचारियों को वैक्सीनेशन के दोनों डोज लगवाना अनिवार्य किया गया है। अगर कोई इसमें लापरवाही बरतता है या फिर देरी करता है तो उसका वेतन रोकने की कार्रवाई की जाएगी।

उज्जैन कलेक्टर ने दो टूक शब्दों में कहा है कि बिना दोनों डोज के सर्टिफिकेट के शासकीय कर्मचारियों को इस महीने का वेतन नहीं मिलेगा।वही उमरिया कलेक्टर ने भी निर्देश दिए है कि समस्त आहरण एवं संवितरण अधिकारी टीकाकरण के दोनो डोज लगवाये जानें का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करें, ताकी नवंबर का वेतन जारी किया जा सके।

सरकारी कर्मचारियों को नहीं मिलेगा नवंबर माह का वेतन

कलेक्टर के संज्ञान में आया है कि जिले में अधिकांश शासकीय सेवकों द्वारा अभी तक वेक्सीनेशन का द्वितीय डोज नहीं लगवाया है। राशन प्राप्त करने वाले हितग्राही का भी सर्टिफिकेट अनिवार्य होगा।

कलेक्टर ने जिले के समस्त शासकीय सेवकों को निर्देशित किया है कि वे 30 नवम्बर तक हर हालत में वेक्सीनेशन का द्वितीय डोज अनिवार्य रूप से लगवाना सुनिश्चित करें तथा जिला कोषालय अधिकारी को भी निर्देशित किया है कि इस माह नवम्बर के वेतन देयक के साथ शासकीय सेवकों का वेक्सीनेशन प्रमाण-पत्र प्राप्त करना सुनिश्चित करें। माह नवम्बर से बिना वेक्सीनेशन प्रमाण-पत्र के वेतन आहरण प्रतिबंधित रहेगा। सभी संविदा एवं दैनिक वेतनभोगी शासकीय कर्मचारियों के वेक्सीनेशन की जानकारी से भी अवगत कराने का दायित्व कार्यालय प्रमुख का होगा। समस्त अधिकारी, कर्मचारी स्वयं एवं उनके परिवार के समस्त सदस्यों का कोविड- 19 टीकाकरण के दोनों डोज लगवाये जानें का प्रमाण पत्र कोषालय में प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें, ताकि माह नवंबर 2021 का वेतन आहरित किया जा सके।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button