देशमध्यप्रदेश

Gyanvapi Mosque – ज्ञानवापी मस्जिद मंदिरों के खम्बो पर है खड़ी – रिपोर्ट

Gyanvapi Mosque ‘वाराणसी का ज्ञानवापी परिसर 1000 साल पुराने विशाल हिंदू मंदिर के ऊपर बना है। हिंदू मंदिर के अवशेषों को ही मस्जिद बनाने में इस्तेमाल किया गया। मस्जिद के नीचे हिंदू मंदिर के अवशेष, चिह्न और प्रतीक आदि अब भी मौजूद हैं।’

ये खुलासे भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) की रिपोर्ट से हुए हैं, जिसे वाराणसी की जिला कोर्ट ने गुरुवार को सार्वजनिक करने का आदेश दिया। हिंदू पक्ष के वकील विष्णुशंकर जैन ने देर शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि 839 पन्नों की रिपोर्ट में स्वस्तिक के निशान, नाग देवता, कमल पुष्प, टूटी हुई हिंदू देवी- देवताओं की मूर्ति का जिक्र किया गया है।

कुल 32 ऐसे प्रमाण मिले हैं, जो वहां मंदिर होने के सबूत पेश करते हैं। कई ऐसे स्तंभ मौजूद हैं, जो असल में मंदिर के थे, उनका इस्तेमाल ज्ञानवापी मस्जिद Gyanvapi Mosque को बनाने में इस्तेमाल किया गया। रिपोर्ट पर मुस्लिम पक्ष की प्रतिक्रिया नहीं आई है।

ज्ञानवापी मस्जिद मंदिरों के खम्बो पर है खड़ी - रिपोर्ट
ज्ञानवापी मस्जिद मंदिरों के खम्बो पर है खड़ी – रिपोर्ट

 एएसआई के सर्वे में 34 शिलालेख रिकॉर्ड में लिए गए। इन पर देवनागरी-ग्रंथ लिपि, तेलुगु और कन्नड़ भाषा में लिखा गया है।  ज्ञानवापी Gyanvapi Mosque परिसर के मध्य के चैंबर में फूलों की डिजाइन मिली है। इसे पश्चिम दिशा में पत्थर लगाकर बंद कर दिया गया है। प्रवेश द्वार पर पक्षी और तोरण बनाए गए थे। लेकिन इन्हें तोड़ दिया गया है मस्जिद के सामने अधिक लोग इकट्ठे हो सकें, इसके लिए पूर्व में अतिरिक्त जगह और बड़ा प्लेटफॉर्म बनाने के लिए तहखाने बनाए गए। तहखाने बनाने के लिए मंदिर के स्तंभों का इस्तेमाल किया गया। एक स्तंभ पर घंटियां और चारों ओर लैंप बने हैं। इस पर संवत 1669 (यानी 1 जनवरी, 1613 शुक्रवार) लिखा है।

Also Read –  Bridal Mehndi Design : मेहंदी की ये खूबसूरत डिज़ाइन ब्राइडल के हाथो पर खूब जचेगी

ज्ञानवापी मस्जिद मंदिरों के खम्बो पर है खड़ी - रिपोर्ट
ज्ञानवापी मस्जिद मंदिरों के खम्बो पर है खड़ी – रिपोर्ट

सुलेखा साहू

समाचार संपादक @ हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें)समाचार / लेख / विज्ञापन के लिए संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button