राजनीतिउत्तर प्रदेश

हर एक से एक एक रुपया लेकर लड़ लिया था चुनाव

1985 का समय था, जब कांग्रेस के प्रेमपाल सम्राट जलेसर विधानसभा से चुनाव लड़ रहे थे और वे जीत गए। पूर्व विधायक ने कहा कि कांग्रेस ने उन्हें टिकट दिया और चुनाव लड़ने को कहा, लेकिन उनके पास पैसे नहीं थे. तब एक रूपये काफी कीमत थी।

उन्होंने बताया कि जब वे मतदाताओं से संपर्क करने गए तो उन्होंने संपन्न परिवारों के लोगों से एक एक रुपये की मांग करते थे और चुनाव लड़ने के लिए उन्हें पैसे मिल जाते थे. चुनाव के लिए उनके पास हर दिन वाहन नहीं होती थी, तो वे ज्यादातर पैदल ही प्रचार करते थे।

1985 में पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह ने कांग्रेस से सम्राट प्रेमपाल सिंह को टिकट दिया। उस समय भाजपा के माधव नट चुनाव लड़ रहे थे। इस चुनाव में प्रेमपाल को 23437 और माधव को 10209 वोट मिले थे. प्रेमपाल का चुनाव बहुत सरल था। उन्होंने कहा, “हमारे पास चुनाव लड़ने के लिए पैसे नहीं थे न ही प्रचार के लिए वाहन थी, दूसरी पार्टियों के लोग कारों में प्रचार करते थे।” ऐसे में हम जहां भी जाते, चुनाव लड़ने के लिए पैसे मांगते। इस तरह से दिन में पैसा इकट्ठा हो जाता था, जिससे अगले दिन का खर्चा चलता था।

Read More :  OMG…यहाँ पेड़ पर उगते हैं अंडे…

तत्कालीन मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी, कांग्रेस नेता बीर बहादुर सिंह और युवा कांग्रेस अध्यक्ष संजय सिंह जैसे नेता उस समय चुनाव प्रचार में आए थे। उन्होंने कहा कि वोट से कुछ दिन पहले एक समर्थक ने एक बहुत पुरानी जीप दी, इसके बाद यह जीप घर बन गई। रात को इसी जीप में सोते थे और सुबह होते ही तीन-चार समर्थकों के साथ अगले गांव के लिए चल देते थे। जिस समर्थक ने जीप दी थी वे कभी-कभी अपनी गाड़ी मंगा लेते थे। ऐसे में कभी पैदल चलकर तो कभी साइकिल से गांवों में पहुंचना होता था। उस समय जनता ने बहुत प्यार दिया और चुनाव जीत गए।

Read More :  सिंगरौली – शौचालय अव्यवस्था का शिकार

जब प्रेमपाल ने लोकसभा में छलांग लगाई :
पूर्व विधायक प्रेमपाल सम्राट 1994 में लोकसभा की दर्शक दीर्घा से सदन में कूद गए थे। विरोधियों ने महात्मा गांधी के बारे में अभद्र टिप्पणी की, जिसका विरोध जताने के लिए प्रेमपाल ने छलांग लगा दी। इससे पहले 1989 में वह सोनिया गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने की मांग को लेकर कांग्रेस कार्यालय के सामने एक पेड़ पर चढ़ गए थे। इस दौरान वह संकट में पड़ गया। उस समय उन्हें मुश्किलों में उतारा गया।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button