देश

वायु प्रदूषण से हुए बीमार तो सरकार को देना होगा 15 लाख रुपये का मुआवजा; जानें व्यक्ति ने यह अर्जी हाई कोर्ट में क्यों दाखिल की?

एक व्यक्ति ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर 15 लाख रुपये मुआवजे की मांग करते हुए कहा है कि वायु प्रदूषण के कारण राजधानी का वातावरण विषैला होता जा रहा है। याचिका में केंद्र और दिल्ली सरकार से मुआवजे की मांग के अलावा 25 लाख रुपये के चिकित्सा बीमा की मांग की गई है।

जस्टिस यशवंत वर्मा ने मामले की सुनवाई 6 दिसंबर तक के लिए स्थगित कर दी गई है। संक्षिप्त सुनवाई के दौरान उन्होंने याचिकाकर्ता शिवम पांडेय से कहा कि कृपया समझें, उच्च न्यायालय खेल का मैदान नहीं है और आपको इसका इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

जस्टिस वर्मा ने कहा कि अगर उन्हें दिल्ली में हवा की गुणवत्ता को लेकर चिंता है, तो उन्हें सुप्रीम कोर्ट जाना होगा क्योंकि वहां (सुप्रीम कोर्ट) पहले से ही एक मामला लंबित है। याचिकाकर्ता ने कहा कि उसने हवा की गुणवत्ता को देखते हुए केंद्र और दिल्ली सरकार से अपने लिए स्वास्थ्य बीमा की मांग की थी।

याचिका में, पांडे ने कहा कि उन्होंने विशिष्ट और अनुकरणीय नुकसान के लिए मुआवजे के रूप में 15 लाख रुपये की मांग की थी। वहीं प्रदूषण को कई तरह की बीमारियों की जड़ भी बताया, जिससे यह मानव स्वास्थ्य को बुरी तरह प्रभावित करता है।

याचिका में आगे कहा गया है कि वायु प्रदूषण का विशेष रूप से मानव स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इसमें आगे कहा गया है कि लोग सिरदर्द, आंखों में जलन, त्वचा में जलन और सांस लेने में तकलीफ जैसी बीमारियों से पीड़ित हैं।

याचिका में दावा किया गया है कि वायु प्रदूषण से फेफड़ों की गंभीर बीमारियां और यहां तक ​​कि कैंसर भी हो सकता है। साथ ही याचिका में सरकार को 25 लाख रुपये के मेडिकल क्लेम का भुगतान करने का आदेश देने की मांग की गई है।

याचिका में सरकार पर प्रदूषण को नियंत्रित करने में विफलता का आरोप लगाया गया है।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button