अन्य

कमला नेहरू अस्पताल की आग ने अब तक आठ नवजातों को निगला

भोपाल राजधानी में स्थित हमीदिया अस्पताल Hamidia Hospital के नवजात शिशु वार्ड में सोमवार रात आग लगने से घायल हुए आधा दर्जन बच्चों की हालत नाजुक बनी हुई है। यहां सोमवार को 1 से 9 दिन तक के 4 बच्चों की मौत हुई थी। हमीदिया अस्पताल में आग लगने के बाद अब तक 8 बच्चों के शवों का पोस्टमॉर्टम हो चुका है। दो ऐसे बच्चे हैं, जिन्हें बिना पीएम के ही परिजन को सौंप दिया गया। मैनेजमेंट ने हादसे में अब तक 4 बच्चों की मौत की ही पुष्टि की है।

हमीदिया हादसे पर मानवाधिकार आयोग ने भी संज्ञान ले लिया है। मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति नरेंद्र कुमार जैन ने मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य तथा हमीदिया अस्पताल अधीक्षक से एक हफ्ते में जांच रिपोर्ट मांगी है। इससे पहले अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान मंगलवार सुबह हमीदिया अस्पताल कमला नेहरू अस्पताल पहुंचे थे। 36 नवजातों को फिलहाल कमला नेहरू अस्पताल की दूसरी मंजिल पर पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग में रखा क्या है। इनमें 7 बच्चे वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। हमीदिया में बच्चा बदलने का आरोप लगाया गया। बागसेवनिया की पूनम का कहना है कि हादसे के बाद उसने अपने बच्चे को जीवित देखा था। सुबह विश्वास सारंग आए, तब भी उसने बच्चे की पहचान की थी। करीब 2 घंटे बाद उसे बताया गया कि उसका बच्चा मर गया है। जिस बच्चे की बॉडी दिखाई गई, वो उसके बच्चे की नहीं है। वहीं चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने अधिकारियों को दो दिन में वार्ड पुन: तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

शॉर्ट सर्किट से लगी थी आग

प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल हमीदिया के कैम्पस में बने कमला नेहरू गैस राहत हॉस्पिटल में सोमवार रात 9 बजे आग लग गई थी। आग अस्पताल की तीसरी मंजिल पर बच्चा वार्ड के एसएनसीयू में लगी। यहां 40 बच्चे भर्ती थे। बिजली लाइन में शॉर्ट सर्किट हादसा हुआ और पीडियाट्रिक वेंटिलेटर ने आग पकड़ ली। फिर ये आग उस वॉर्मर तक पहुंच गई, जिसमें बच्चों को रखा गया था।

कमला नेहरू अस्पताल के बच्च वार्ड में लगी आग, चार बच्चों की मौत
कमला नेहरू अस्पताल के बच्च वार्ड में लगी आग

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button