अन्य

भोपाल एयरपोर्ट से नहीं डायवर्ट होंगी लाइटें… राजाभोज एयरपोर्ट पर दिसंबर से शुरू होगी नई लैडिंग व्यवस्था

भोपाल – राजधानी के राजाभोज एयरपोर्ट पर अगले महीने बड़ी सौगात मिलने वाली है। यहां पर आधुनिक इंस्ट्रूमेंट लैंडिंग सिस्टम (आइएलएस) कैटेगरी-1 स्थापित किया जा रहा है।

इस सिस्टम के शुरू होने के बाद कम दृश्यता में भी आसानी से विमान लैंड हो सकेंगे। इससे खराब मौसम में उड़ानों को डायवर्ट करने की समस्या भी कम होगी। यह व्यवस्था दो दिसंबर से भोपाल में शुरू हो जाएगी।

भोपाल एयरपोर्ट से नहीं डायवर्ट होंगी लाइटें... राजाभोज एयरपोर्ट पर दिसंबर से शुरू होगी नई लैडिंग व्यवस्था

एयरपोर्ट पर लंबे समय से यह उपकरण लगे हुए हैं, लेकिन पुराने होने के कारण इनका पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा था। एयरपोर्ट अथारिटी ने अपने दिल्ली मुख्यालय से आधुनिक उपकरणों की मांग की थी, जिस पर तेजी से काम किया जा रहा है।

एयरपोर्ट प्रबंधन के अनुसार आइएलएस के शुरू होने के बाद 550 मीटर दृश्यता होने पर भी विमान आसानी से लैंड और उड़ सकेंगे।

वर्तमान उपकरणों की मदद 2400 मीटर की दृश्यता होने पर ही विमान लैंड हो सकते हैं। ऐसे में सर्दी और तेज बारिश के सीजन में अकसर दृश्यता कम हो जाती है।

इस बार सर्दी के समय विमान डाइवर्ट होने की समस्या कम होगी। हाल ही में मौसम खराब होने पर विमानों को कई बार इंदौर या पास के अन्य एयरपोर्ट पर डायवर्ट करना पड़ा था, लेकिन अब इस समस्या से निजात मिलेगी।

एयरपोर्ट पर नया डीवीओआर (डॉप्लर हाईफ्रेक्वेंसी ओमनी रेंज) सिस्टम भी लगाया जा रहा है। यह विमान को दिशा-निर्देश देने वाला सिस्टम है।

विमान के एयर ट्रेफिक क्षेत्र में प्रवेश करने के बाद यह उपकरण विमान को सुरक्षित क्षेत्र में जाने के सिग्नल देता है। रन-वे साफ और सुरक्षित होने पर पायलट को ग्रीन सिग्नल मिलेगा। रुकावट होने पर रेड सिग्नल मिलेगा। सिग्नल के आधार पर चालक दल विमान की सुरक्षित लैंडिंग कर सकेगा। इसकी स्थापना का काम भी जल्द ही पूरा हो जाएगा।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button