मध्यप्रदेश

हर घर में शराब दुकान वाले गांव से रिपोर्ट:राजगढ़ हाईवे पर गांववाले किराने की तरह बेचते हैं शराब, रेट भी आधा; बच्चे-महिलाएं भी इसी धंधे में

देश में शराबबंदी की बातें उठती हैं, लेकिन हम आपको ऐसे गांव की हकीकत दिखा रहे हैं, जहां लगभग हर घर में शराब दुकान है। ये गांव है मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले का कटारिया खेड़ी। राजगढ़-ब्यावरा हाईवे पर बसे गांव में अवैध रूप से शराब को गुमटियों के जरिए बेचा जाता है। खुलेआम किराना की दुकान में शराब बोतलें सजाकर रखी जाती हैंं। बेचने वालों में पुरुष, महिला, बच्चे, बूढ़े सब शामिल हैं।

दैनिक भास्कर की टीम जब यहां पहुंची तो जो दिखा, वह चौंकाने वाला था। चुपके से दुकानदार और खरीदार की बात रिकॉर्ड की गई। खरीदार से पूछा- जेब में क्या है? तो ये जवाब मिला- संतरा फ्लेवर क्वार्टर है। जब भी हम कटारियाखेड़ी से होकर गुजरते हैं तो यहीं से शराब खरीदकर ले जाते हैं। यहां सभी ब्रांड मिल जाते हैं, वो भी काफी सस्ते में। बहुत सी दुकानें हैं, लाल चाहिए तो लाल लीजिए, सफेद चाहिए तो सफेद। कई बार तो सिर्फ शराब लेने ही आते हैं। पूरा गांव तो यहां शराब बेचता है। गुमटी हो या पक्के मकान… हर जगह शराब मिल जाएगी। पुलिस आती है तो भी हमें शराब लेने में कोई दिक्कत नहीं होती।

हद यह है कि जिस हाईवे से नेता, अधिकारी और पुलिस की गाड़ी गुजरती है, उसी के किनारे गुमटी में लाल… सफेद का कारोबार हो रहा है। शराब के इस अवैध कारोबार को कैद करने जब भास्कर टीम यहां पहुंची तो खरीदारों ने खुलकर स्वीकारा कि यहां काफी सस्ती शराब उन्हें मिल जाती है। बड़ी बात यह है कि यहां पर बच्चों से लेकर बड़े तक इस कारोबार में लगे हुए हैं।

हाईवे किनारे कटारिया खेड़ी बना अवैध शराब का गढ़
राजगढ़-ब्यावरा हाईवे के मध्य स्थित कटारिया खेड़ी गांव में हर घर में आपको अवैध शराब मिल जाएगी। यहां हाईवे के दोनों ओर अवैध शराब की एक दो नहीं सैकड़ों दुकानें खुल चुकी हैं। इन दुकानों में हर ब्रांड की शराब उपलब्ध है। यहां से गुजरने वालों के साथ आसपास के ग्रामीण भी कम कीमत पर शराब मिलने के चक्कर में बड़ी संख्या में पहुंचते हैं। इस गांव में घुसते ही शराब की दुकान देख ऐसा लगता है कि जैसे लाइसेंसी दुकानें लगी हों। यहां शराब मिलने का कोई फिक्स समय नहीं है, यह सुविधा 24 घंटे उपलब्ध है। ऐसा नहीं है कि यह कारोबार किसी से छिपा है, कई बार यहां दबिश भी दी जाती है, लेकिन टीम के जाते ही फिर से दुकानें सज जाती हैं।

शराब की ये गुमटियां 24 घंटे खुली रहती हैं। किराना जैसे सामान सजाकर रखा जाता है।
शराब की ये गुमटियां 24 घंटे खुली रहती हैं। किराना जैसे सामान सजाकर रखा जाता है।

चुनाव के समय कई लोगों पर की गई थी कार्रवाई
चुनाव के दौरान एसपी प्रदीप शर्मा, तत्कालीन कलेक्टर निधि निवेदिता ने कड़िया, गुलखेड़ी, दूधी, कटारियाखेड़ी, नई दिल्ली कंजर डेरा, छापीहेड़ा कंजर डेरा सहित कई जगह बड़ी कार्रवाई की थी, हालांकि राजनीतिक संरक्षण के कारण इस कार्रवाई का कोई खास असर नजर नहीं आया। कार्रवाई के बाद यहां पर फिर से दुकानें सज गईं। इन दुकानों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

एक क्या, पूरा गांव बेचता है शराब
शराब खरीदार बोला- कटारियाखेड़ी से पावर केन है… बीयर ली है…। यहां पर तो पूरा गांव ही शराब बेचता है। ठेके से काफी सस्ती मिल जाती है। ऐसी कोई शराब नहीं है, जो यहां पर नहीं मिलती है।

कलेक्टर बोले- होगी कड़ी कार्रवाई
राजगढ़ कलेक्टर हर्ष दीक्षित का कहना है कि जहां-जहां अवैध शराब बिक रही है, उसकी जानकारी जुटाकर पुलिस एवं प्रशासन की संयुक्त कार्रवाई एक बार फिर की जाएगी।

source- www.bhaskar.com

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button