मध्यप्रदेशसतना

अब मृत पार्षद भी करेंगे लोगों की सहायता..!

सतना। एक ओर जहां कोरोना को लेकर हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है वहीं दूसरी तरफ कोरोना संक्रमण से बचाव और इसके लिए राज्य शासन द्वारा शहरी क्षेत्र में किल कोरोना अभियान चलाने और रोगियों व कोरोना के लक्षण दिख रहे लोगों के इलाज की समुचित व्यवस्था के लिए कोविड सहायता केंद्र खोले जाने की तैयारी की जा रही है। नगर निगम द्वारा की जा रही इस तैयारी की जहां एक ओर सराहना हो रही है। वहीं नगर निगम के अधिकारियों द्वारा की गई बहुत बड़ी चूक और लापरवाही पर अधिकारियों का मजाक भी उड़ाया जा रहा है। दरअसल नगर निगम सतना द्वारा कोविड सहायता केंद्र की स्थापना की जा रही है और प्रत्येक कोविड सहायता केंद्र में क्षेत्र के पार्षदों को सदस्य बनाया जा रहा है। इसी दौरान नगर निगम के अधिकारियों ने कोविड सहायता केंद्र में एक ऐसे पार्षद को सदस्य बना दिया है जो कि इस दुनिया में है ही नहीं और उनकी मृत्यु दिसंबर 2017 में हो चुकी है। कोविड केंद्र की सूचि में मृत पार्षद को सदस्य बनाए जाने पर नगर निगम सतना और इस काम को करने वाले अधिकारियों की जमकर खिल्ली उड़ाई जा रही है। व्हाट्सएप ग्रुपों में चल रही सूची के बाद लोग अधिकारियों को यह तक कह रहे हैं कि उन्हें अपने शहर के बारे में यह तक नहीं पता कि कौन से पार्षद जीवित हैं और कौन नहीं। वार्ड नंबर 10 के पार्षद की हो चुकी थी मृत्यु नगर निगम सतना ने पूरे शहर के वार्डो के लिए कोविड सहायता केंद्रो कि सूची जारी की जिसमें वार्ड नंबर 10 के लिए सूची में बसेन्द्र सिंह गुड्डा का नाम है जबकि बसेन्द्र सिंह गुड्डा की मृत्यु सड़क हादसे में दिसंबर 2017 हो चुकी है और उनके स्थान पर उनके भाई धीरेंद्र सिंह बबलू उपचुनाव में पार्षद निर्वाचित हुए हैं। फिर भी नगर निगम कर्मचारियों ने मृत पार्षद का नाम टाइप कर दिया और अधिकारियों ने बिना पढ़े हस्ताक्षर भी कर सूची जारी दी। इस मामले से नगर निगम कर्मचारियों -अधिकारियों के काम करने के प्रति गंभीरता को लेकर समवाल खड़े किए जा रहे हैं। सात कोविड सहायता केंद्र की हो रही स्थापना नगर निगम सतना अंतर्गत शहरी क्षेत्र में सात कोविड सहायता केंद्र की स्थापना की जा रही है। इसकी सूची नगर निगम द्वारा सात मई को जारी कर दी गई है। प्रत्येक कोविड सहायता केंद्र में सदस्य के रूप में पार्षदों को सदस्य बनाया गया है जो कि क्षेत्र के नागरिकों की मदद करेंगे। ये सभी पार्षद अपने-अपने वार्ड में पुरुष, महिलाओं, बच्चों, बुजुर्ग और अन्य मरीजों की जानकारी लेगें। इसके साथ ही बुखार, सर्दी, खांसी, सिर दर्द व सांस लेने में कठिनाई आदि लक्षण युक्त रोगियों को चिन्हित कर प्राथमिक जांच और परामर्श की आवश्यकता होने पर त्वरित उपचार की दृष्टि से नगर निगम के कोविड सहायता केंद्रों में भेजेंगे। इन केंद्रों में सहायक राजस्व निरीक्षकों की भी ड्यूटी लगाई गई है।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button