अन्य

Palm oil Import – इंडोनेशिया ने रोका तो भारत ने खोज निकाले दूसरे रास्ते, जनता के लिए खुशखबरी

Palm oil Import – मई में भारत का पाम तेल आयात सात महीने में सबसे ज्यादा है। अप्रैल में यह 15 फीसदी ज्यादा था। पाम तेल के सबसे बड़े उत्पादक इंडोनेशिया ने 28 अप्रैल को इसके निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था।

हालांकि मई में इसे हटा दिया गया था। रिपोर्ट के अनुसार, Palm oil Import भारत ने मई में 660,000 टन पाम तेल का आयात किया, जो अप्रैल में 572,508 टन था। अधिक आयात के कारण घरेलू बाजार में खाद्य तेल की कीमतों में गिरावट की आशंका है।

Palm oil Import भारत का सबसे बड़ा आयातक

भारत दुनिया में पाम तेल का सबसे बड़ा आयातक है। भारत की ऊंची खरीद से मलेशियाई पाम तेल की कीमतों को समर्थन मिल सकता है, जो पहले से ही रिकॉर्ड ऊंचाई पर हैं। मई में इंडोनेशिया से भारतीय आयात में गिरावट आई, लेकिन भारत मलेशिया, थाईलैंड और पापुआ न्यू गिनी से अधिक पाम तेल खरीदने में सक्षम था।

दुनिया के सबसे बड़े उत्पादक और पाम तेल के निर्यातक इंडोनेशिया ने आंतरिक रूप से बढ़ती कीमतों को नियंत्रित करने के लिए 28 अप्रैल को उत्पाद का निर्यात बंद कर दिया। हालाँकि, 23 मई से, इंडोनेशिया ने निर्यात को फिर से शुरू करने की अनुमति दी और घरेलू आपूर्ति की सुरक्षा के लिए एक नीति तैयार की।

Palm oil Import सोयाबीन तेल का आयात भी बढ़ा

Palm oil Import  भारत का सोयाबीन तेल आयात मई में बढ़कर 352,614 टन हो गया, जो अप्रैल में 315,853 टन था। देश में सोयाबीन तेल का आयात अगले महीने तेजी से बढ़ सकता है क्योंकि सरकार 20 लाख टन माल पर आयात शुल्क हटाती है। सूरजमुखी तेल का आयात मई में बढ़कर 123,970 टन हो गया, जो एक महीने पहले 67,788 टन था।

भारत मुख्य रूप से अर्जेंटीना और ब्राजील से सोयाबीन तेल खरीदता है। इसी तरह, यह यूक्रेन और रूस से सूरजमुखी का तेल खरीदता है। यूक्रेन से सूरजमुखी के तेल की खेप फिलहाल बंद है। अब भारत रूस से अधिक आयात करने की कोशिश कर रहा है।

हर साल खरीदारी करें

भारत इंडोनेशिया से हर साल करीब 80 लाख टन पाम तेल खरीदता है। भारतीय बाजार में खाद्य तेल की कुल खपत में पाम तेल की हिस्सेदारी करीब 40 फीसदी है। दूसरी ओर, इंडोनेशिया सालाना लगभग 4.6 मिलियन टन पाम तेल का उत्पादन करता है। यह 750 मिलियन टन के कुल वैश्विक उत्पादन के आधे से अधिक है।

Palm oil Import - इंडोनेशिया ने रोका तो भारत ने खोज निकाले दूसरे रास्ते, जनता के लिए खुशखबरी इंडोनेसिया द्वारा पाम ऑयल के निर्यात के बैन के बावजूद भारत ने मई के महीने में सबसे अधिक तेल का आयात किया है. भारत रूस से भी खाने वाला तेल इंपोर्ट कर रहा है. भारत सबसे बड़ा आयातकसोया तेल का भी बढ़ा इंपोर्ट मई में भारत के पाम ऑयल के इंपोर्ट (Palm Oil Import) का आंकड़ा सात महीनों में सबसे अधिक रहा है. अप्रैल के महीने में ये 15 फीसदी अधिक रहा था. पाम ऑयल के सबसे बड़े उत्पादक देश इंडोनेशिया (Indonesia) ने 28 अप्रैल को इसके निर्यात (Palm Oil Export) पर बैन लगा दिया था. हालांकि, मई के महीने में इसे हटा लिया था. खबरों के अनुसार, भारत ने मई के महीने में 660,000 टन पाम तेल का आयात (India Palm Oil Import) किया था, जबकि अप्रैल में ये आंकड़ा 572,508 टन था. उम्मीद जताई जा रही है कि अधिक इंपोर्ट से घरेलू बाजार में खाने वाले तेल की कीमतों में गिरावट आ सकती है. भारत सबसे बड़ा आयातक भारत दुनिया में सबसे ज्यादा पाम ऑयल इंपोर्ट (Palm Oil Import) करने वाला देश है. भारत की अधिक खरीद से मलेशियाई पाम तेल की कीमतों को समर्थन मिल सकता है, जिनके रेट पहले से ही रिकॉर्ड ऊंचाई पर हैं. इंडोनेशिया से भारतीय आयात में मई में गिरावट आई थी, लेकिन भारत मलेशिया, थाईलैंड और पपुआ न्यू गिनी से अधिक पाम ऑयल खरीदने में सफल रहा था. दुनिया के सबसे बड़े पाम तेल उत्पादक और निर्यातक इंडोनेशिया ने 28 अप्रैल को घरेलू स्तर पर बढ़ती कीमतों को नियंत्रित करने के लिए उत्पाद के निर्यात रोक लगा दी थी. हालांकि, 23 मई से इंडोनेशिया ने निर्यात को फिर से शुरू करने की अनुमति दे दी और घरेलू आपूर्ति की सुरक्षा के लिए पॉलिसी तैयार की. सोया तेल का भी बढ़ा आयात रिपोर्ट के अनुसार, मई में भारत का सोया तेल आयात बढ़कर 352,614 टन हो गया, जो अप्रैल में 315,853 टन था. आने वाले महीनों में देश का सोया तेल आयात तेजी से बढ़ सकता है, क्योंकि सरकार ने 20 लाख टन के कमॉडिटी पर से आयात शुल्क हटा लिया है. सूरजमुखी तेल का आयात मई में बढ़कर 123,970 टन हो गया, जो एक महीने पहले 67,788 टन था. भारत मुख्य रूप से अर्जेंटीना और ब्राजील से सोया तेल खरीदता है. इसी तरह यूक्रेन और रूस से सूरजमुखी तेल खरीदता है. यूक्रेन से सूरजमुखी तेल का शिपमेंट फिलहाल बंद हो गया है. अब भारत रूस से अधिक आयात करने की कोशिश कर रहा है. हर साल की खरीद भारत इंडोनेशिया से सालाना करीब 80 लाख टन पाम ऑयल खरीदता है. भारतीय बाजार में खाद्य तेलों के कुल उपभोग में पाम ऑयल का हिस्सा करीब 40 फीसदी है. दूसरी ओर इंडोनेशिया हर साल करीब 480 लाख टन पाम ऑयल का उत्पादन करता है. यह टोटल ग्लोबल प्रॉडक्शन 750 लाख टन के आधे से भी ज्यादा है
photo by google

Also Read –  Cement – मकान बनाने खुशखबरी, घट गए सरिया, सीमेंट सहित इन चीजों के दाम

Also Read – Maruti Alto फिर अपने नए अंदाज में,फीचर्स के साथ लुक भी है बहुत जबरदस्त,देखिए

Also Read – Taarak Mehta – नहीं रही दया बैन

Also Read – पांच साल में भी 63 करोड़ के निर्माण कार्य ठण्डे बस्ते में

Important  अपने आसपास की खबरों को तुरंत पढ़ने के लिए एवं ज्यादा अपडेट रहने के लिए आप यहाँ Click करके हमारे App को अपने मोबाइल में इंस्टॉल कर सकते हैं।

Important :  हमारे Whatsapp Group से जुड़ने के लिए यहाँ Click here करें।

Palm oil Import – मई में भारत का पाम तेल आयात सात महीने में सबसे ज्यादा है। अप्रैल में यह 15 फीसदी ज्यादा था। पाम तेल के सबसे बड़े उत्पादक इंडोनेशिया ने 28 अप्रैल को इसके निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था।

हालांकि मई में इसे हटा दिया गया था। रिपोर्ट के अनुसार, Palm oil Import भारत ने मई में 660,000 टन पाम तेल का आयात किया, जो अप्रैल में 572,508 टन था। अधिक आयात के कारण घरेलू बाजार में खाद्य तेल की कीमतों में गिरावट की आशंका है।

Palm oil Import भारत का सबसे बड़ा आयातक

भारत दुनिया में पाम तेल का सबसे बड़ा आयातक है। भारत की ऊंची खरीद से मलेशियाई पाम तेल की कीमतों को समर्थन मिल सकता है, जो पहले से ही रिकॉर्ड ऊंचाई पर हैं। मई में इंडोनेशिया से भारतीय आयात में गिरावट आई, लेकिन भारत मलेशिया, थाईलैंड और पापुआ न्यू गिनी से अधिक पाम तेल खरीदने में सक्षम था। दुनिया के सबसे बड़े उत्पादक और पाम तेल के निर्यातक इंडोनेशिया ने आंतरिक रूप से बढ़ती कीमतों को नियंत्रित करने के लिए 28 अप्रैल को उत्पाद का निर्यात बंद कर दिया। हालाँकि, 23 मई से, इंडोनेशिया ने निर्यात को फिर से शुरू करने की अनुमति दी और घरेलू आपूर्ति की सुरक्षा के लिए एक नीति तैयार की।

Palm oil Import सोयाबीन तेल का आयात भी बढ़ा

Palm oil Import  भारत का सोयाबीन तेल आयात मई में बढ़कर 352,614 टन हो गया, जो अप्रैल में 315,853 टन था। देश में सोयाबीन तेल का आयात अगले महीने तेजी से बढ़ सकता है क्योंकि सरकार 20 लाख टन माल पर आयात शुल्क हटाती है। सूरजमुखी तेल का आयात मई में बढ़कर 123,970 टन हो गया, जो एक महीने पहले 67,788 टन था।

भारत मुख्य रूप से अर्जेंटीना और ब्राजील से सोयाबीन तेल खरीदता है। इसी तरह, यह यूक्रेन और रूस से सूरजमुखी का तेल खरीदता है। यूक्रेन से सूरजमुखी के तेल की खेप फिलहाल बंद है। अब भारत रूस से अधिक आयात करने की कोशिश कर रहा है।

हर साल खरीदारी करें

भारत इंडोनेशिया से हर साल करीब 80 लाख टन पाम तेल खरीदता है। भारतीय बाजार में खाद्य तेल की कुल खपत में पाम तेल की हिस्सेदारी करीब 40 फीसदी है। दूसरी ओर, इंडोनेशिया सालाना लगभग 4.6 मिलियन टन पाम तेल का उत्पादन करता है। यह 750 मिलियन टन के कुल वैश्विक उत्पादन के आधे से अधिक है।

Palm oil Import - इंडोनेशिया ने रोका तो भारत ने खोज निकाले दूसरे रास्ते, जनता के लिए खुशखबरी इंडोनेसिया द्वारा पाम ऑयल के निर्यात के बैन के बावजूद भारत ने मई के महीने में सबसे अधिक तेल का आयात किया है. भारत रूस से भी खाने वाला तेल इंपोर्ट कर रहा है. भारत सबसे बड़ा आयातकसोया तेल का भी बढ़ा इंपोर्ट मई में भारत के पाम ऑयल के इंपोर्ट (Palm Oil Import) का आंकड़ा सात महीनों में सबसे अधिक रहा है. अप्रैल के महीने में ये 15 फीसदी अधिक रहा था. पाम ऑयल के सबसे बड़े उत्पादक देश इंडोनेशिया (Indonesia) ने 28 अप्रैल को इसके निर्यात (Palm Oil Export) पर बैन लगा दिया था. हालांकि, मई के महीने में इसे हटा लिया था. खबरों के अनुसार, भारत ने मई के महीने में 660,000 टन पाम तेल का आयात (India Palm Oil Import) किया था, जबकि अप्रैल में ये आंकड़ा 572,508 टन था. उम्मीद जताई जा रही है कि अधिक इंपोर्ट से घरेलू बाजार में खाने वाले तेल की कीमतों में गिरावट आ सकती है. भारत सबसे बड़ा आयातक भारत दुनिया में सबसे ज्यादा पाम ऑयल इंपोर्ट (Palm Oil Import) करने वाला देश है. भारत की अधिक खरीद से मलेशियाई पाम तेल की कीमतों को समर्थन मिल सकता है, जिनके रेट पहले से ही रिकॉर्ड ऊंचाई पर हैं. इंडोनेशिया से भारतीय आयात में मई में गिरावट आई थी, लेकिन भारत मलेशिया, थाईलैंड और पपुआ न्यू गिनी से अधिक पाम ऑयल खरीदने में सफल रहा था. दुनिया के सबसे बड़े पाम तेल उत्पादक और निर्यातक इंडोनेशिया ने 28 अप्रैल को घरेलू स्तर पर बढ़ती कीमतों को नियंत्रित करने के लिए उत्पाद के निर्यात रोक लगा दी थी. हालांकि, 23 मई से इंडोनेशिया ने निर्यात को फिर से शुरू करने की अनुमति दे दी और घरेलू आपूर्ति की सुरक्षा के लिए पॉलिसी तैयार की. सोया तेल का भी बढ़ा आयात रिपोर्ट के अनुसार, मई में भारत का सोया तेल आयात बढ़कर 352,614 टन हो गया, जो अप्रैल में 315,853 टन था. आने वाले महीनों में देश का सोया तेल आयात तेजी से बढ़ सकता है, क्योंकि सरकार ने 20 लाख टन के कमॉडिटी पर से आयात शुल्क हटा लिया है. सूरजमुखी तेल का आयात मई में बढ़कर 123,970 टन हो गया, जो एक महीने पहले 67,788 टन था. भारत मुख्य रूप से अर्जेंटीना और ब्राजील से सोया तेल खरीदता है. इसी तरह यूक्रेन और रूस से सूरजमुखी तेल खरीदता है. यूक्रेन से सूरजमुखी तेल का शिपमेंट फिलहाल बंद हो गया है. अब भारत रूस से अधिक आयात करने की कोशिश कर रहा है. हर साल की खरीद भारत इंडोनेशिया से सालाना करीब 80 लाख टन पाम ऑयल खरीदता है. भारतीय बाजार में खाद्य तेलों के कुल उपभोग में पाम ऑयल का हिस्सा करीब 40 फीसदी है. दूसरी ओर इंडोनेशिया हर साल करीब 480 लाख टन पाम ऑयल का उत्पादन करता है. यह टोटल ग्लोबल प्रॉडक्शन 750 लाख टन के आधे से भी ज्यादा है
photo by google

Also Read –  Cement – मकान बनाने खुशखबरी, घट गए सरिया, सीमेंट सहित इन चीजों के दाम

Also Read – Maruti Alto फिर अपने नए अंदाज में,फीचर्स के साथ लुक भी है बहुत जबरदस्त,देखिए

Also Read – Taarak Mehta – नहीं रही दया बैन

Also Read – पांच साल में भी 63 करोड़ के निर्माण कार्य ठण्डे बस्ते में

Important  अपने आसपास की खबरों को तुरंत पढ़ने के लिए एवं ज्यादा अपडेट रहने के लिए आप यहाँ Click करके हमारे App को अपने मोबाइल में इंस्टॉल कर सकते हैं।

Important :  हमारे Whatsapp Group से जुड़ने के लिए यहाँ Click here करें।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button