मनोरंजन

Pashu Aadhaar – आपकी भैंस का भी बनेगा आधार कार्ड, मजाक नहीं, खुद पीएम मोदी ने दी है जानकारी

Pashu Aadhaar – अब आपका भैंस का आधार कार्ड भी बन जाएगा। वैसे यह एक मजाक है। अगर आपको लगता है कि यह एक मजाक ( Joke ) है, तो आप जानते हैं, हम मजाक नहीं कर रहे हैं।

सरकार आपकी गाय-भैंस के लिए भी आधार कार्ड ( Pashu Aadhaar ) बनाने जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इसकी घोषणा की।

Pashu Aadhaar – इसका नाम पशु आधार होगा
ग्रेटर नोएडा: Pashu Aadhaar के बारे में तो आप जानते ही होंगे. इससे कई काम आसान हो गए। इससे न सिर्फ लोगों की पहचान आसान हुई है, बल्कि कई तरह की धोखाधड़ी ( Fraud ) पर भी लगाम लगी है. इसकी सफलता से उत्साहित सरकार जानवरों के लिए आधार कार्ड भी बनाएगी। तैयारियां शुरू हो चुकी हैं।

Pashu Aadhaar - आपकी भैंस का भी बनेगा आधार कार्ड, मजाक नहीं, खुद पीएम मोदी ने दी है जानकारी
photo by google

Pashu Aadhaar – खुद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इंटरनेशनल डेयरी फेडरेशन वर्ल्ड ( Federation World ) डेयरी समिट में इस मुद्दे पर चर्चा की। इस बार उन्होंने कहा कि विज्ञान के साथ जोड़कर भारत के डेयरी क्षेत्र के पैमाने का और विस्तार किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि भारत डेयरी पशुओं का सबसे बड़ा डेटाबेस बना रहा है। डेयरी सेक्टर ( dairy sector ) से जुड़े हर जानवर को टैग किया जा रहा है।

Pashu Aadhaar – जानवरों की बायोमीट्रिक पहचान
आपको पता होना चाहिए कि आधार कार्ड बनाने के लिए बायोमेट्रिक ( biometric ) पहचान ली जाती है। यानी उंगलियों के निशान, आंखों की पुतलियों आदि को वैज्ञानिक तरीके से पकड़ा जाता है। पीएम मोदी ने कहा कि अब आधुनिक तकनीक की मदद से जानवरों की बायोमेट्रिक पहचान की जा रही है.

Pashu Aadhaar – नाम होगा ‘पशु आधार’
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की कि जानवरों की बायोमेट्रिक ( biometric ) पहचान की जा रही है, जिसका नाम है – पाशु आधार। एनिमल ( Animal ) आधार के जरिए जानवरों की डिजिटल पहचान की जा रही है। सरकार का कहना है कि वह पशु स्वास्थ्य पर नजर रखने के अलावा डेयरी उत्पादों के बाजार का विस्तार करने में मदद करेगी।

Pashu Aadhaar – बन्नी भैंस का सुनाया किस्सा
इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने गुजरात के कच्छ में रहने वाली बनी वाइन की कहानी सुनाई. यह भैंस वहां की रेगिस्तानी ( desert ) परिस्थितियों के अनुकूल हो गई है जो अक्सर हैरान करने वाली होती है।

वहाँ दिन में बहुत धूप रहती है। इसलिए खरगोश और भैंस रात में कम तापमान पर चरने के लिए निकलते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, हमारे दोस्त जो विदेश से आए हैं, यह जानकर चौंक जाएंगे कि उस दौरान खरगोश भैंस अपने किसानों या माता-पिता के साथ नहीं रहती है।

खरगोश भैंस खुद चरागाह में जाती है। रेगिस्तान में पानी की कमी है। इसलिए बहुत कम पानी में भी खरगोश और भैंस का काम हो जाता है।

Pashu Aadhaar – रात में 15 किलोमीटर दूर जाकर चरती है घास
पीएम मोदी ने कहा कि खरगोश भैंस रात में 15-15 से 17-17 किमी की दूरी पर चरते हैं। उन्होंने कहा, घास चराने के लिए इतनी दूर जाने के बाद भी सुबह खरगोश और भैंस अपने आप घर आ जाते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि किसी के खरगोश या भैंस के लापता होने या गलत घर में जाने के बारे में बहुत कम सुनने को मिलता है।

Pashu Aadhaar - आपकी भैंस का भी बनेगा आधार कार्ड, मजाक नहीं, खुद पीएम मोदी ने दी है जानकारी
photo by google

Also Read –  Cement – मकान बनाने खुशखबरी, घट गए सरिया, सीमेंट सहित इन चीजों के दाम

Also Read – Maruti Alto फिर अपने नए अंदाज में,फीचर्स के साथ लुक भी है बहुत जबरदस्त,देखिए

Also Read – Taarak Mehta – नहीं रही दया बैन

Also Read – पांच साल में भी 63 करोड़ के निर्माण कार्य ठण्डे बस्ते में

Important  अपने आसपास की खबरों को तुरंत पढ़ने के लिए एवं ज्यादा अपडेट रहने के लिए आप यहाँ Click करके हमारे App को अपने मोबाइल में इंस्टॉल कर सकते हैं।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button