सतना

विन्ध्य प्रदेश के नाम पर राजनैतिक रोटी न से की जाए

सतना – विन्ध्य प्रदेश के नाम पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए। ऐसा न हो कि कोई कहीं भी इसके नाम पर राजनीति करे। कुछ लोग राजनीति कर रहे हैं। जनता को विंध्य प्रदेश बनाने आगे आना चाहिए ।विन्ध्य के निर्माण के लिए भावना और ईमानदारी जरूरी है। विन्ध्य के लिए उठने वाली आवाज सतना से दिल्ली तक जाएगी। यह बात जन अस्मिता यात्रा लेकर सतना पहुंचे पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी ने स्थानीय सर्किट हाउस में पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही। पूर्व विधायक तिवारी ने कहा नारायण त्रिपाठी के पहले से मैं विंध्य प्रदेश बनाने की मांग करता आ रहा हूं, इसके अभियान को लेकर मैं लगातार प्रयासरत हूं, नारायण या जो लोग भी विंध्य प्रदेश बनाने सामने आ रहे हैं उनका मैं स्वागत करता है,परन्तु विचार शुद्ध होना चाहिए।

पृथक विन्ध्य प्रदेश के लिए अलग- अलग बैनरों तले संघर्ष के सवाल पर पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी ने कहा कि इस मुद्दे में नारायण त्रिपाठी और लक्ष्मण तिवारी इश्यू नहीं है… उदे्श्य सिर्फ विन्ध्य प्रदेश बनाना है। जब लगेगा और जनता की आवाज होगी तो सभी बैनर एक हो जाएंगे। वैसे भी कई जगह के बैल एक साथ होने पर समूची सार का नाश कर देते हैं ऐसे में जब तक संघर्ष का समय है तब तक सभी अलग- अलग संघर्ष करें,यही उचित है।

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी के बोल बिगड़ गए। कोरोना संक्रमण पर सवाल उठाते हुए उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमण से एक भी हरिजन आदिवासी तथा कथित तौर पर कोरोना से नहीं मरा…क्यों नहीं मरा? बड़े लोग निक्कमे टाइप के लोग कोरोना से मरे।

विन्ध्य प्रदेश बनने के बाद उसके लिए राजस्व कहां से जुटेगा इस सवाल के जबाव में पूर्व विधायक श्री तिवारी ने कहा कि सिंगरौली से अकेले 100 वर्षों तक विन्ध्य प्रदेश चलाया जा सकता है। प्रदेश के राजस्व का 38 फीसदी हिस्सा विन्ध्य से ज्याता है।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button