अन्य

कंगना के आजादी वाले बयान से सदमे में हैं राखी सावंत! अस्पताल में भर्ती

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) हाल ही में ‘भीख में मिली आजादी’ वाले बयान से सुर्खियों में आ गई हैं. कई सेलेब्स ने कंगना के इस बयान का विरोध किया है. अब कंगना (Kangana Ranaut) के इस स्टेटमेंट पर राखी सावंत (Rakhi Sawant) ने रिएक्ट किया है.

नई दिल्ली: एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) हाल ही में ‘भीख में मिली आजादी’ वाले बयान से फिर सुर्खियों में आ गई हैं. कई सेलेब्स ने कंगना (Kangana Ranaut) के इस बयान का विरोध किया है. अब कंगना (Kangana Ranaut) के इस स्टेटमेंट पर राखी सावंत (Rakhi Sawant) ने रिएक्ट किया है. राखी (Rakhi Sawant) ने बताया कि उन्हें गहरा सदमा लगा है और अस्पताल में भर्ती होना पड़ा है. उन्होंने अपना एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह कंगना (Kangana Ranaut) को जमकर खरी-खोटी सुनाती नजर आ रही हैं.

Desi Jugaad: Online Class के लिए टीचर ने लगाई ये ट्रिक, VIDEO देखकर कहेंगे- क्या धांसू जुगाड़ है!

आपको भीख मांगने का इनाम मिला है
राखी सावंत ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपना एक वीडियो शेयर किया, जिसमें वह अस्पताल के बिस्तर पर लेटी हुई नजर आ रही हैं। वीडियो में राखी सावंत कहती हैं, ‘दोस्तों मैं हॉस्पिटल में हूं. नर्स ने मेरी जांच की। मैं बीमार हूँ, स्तब्ध हूँ। हाल ही में पद्म श्री पुरस्कार पाने वाली एक अभिनेत्री ने कहा, “भीख मांगकर हमें आजादी मिली है।” हमें दया दिखाई गई। क्या आपको अपने देश से प्यार नहीं है? मैं बहुत सी चीजें करता हूं और आप लोग जरूर कर रहे होंगे। ऐसे व्यक्तियों को पद्म श्री से सम्मानित किया जाता है। आपको भीख मांगने के लिए पद्म श्री पुरस्कार मिला है। हमारे देश के जवानों ने जीत ली है कारगिल, क्या उनका बलिदान व्यर्थ है? मुझे बहुत अफ़सोस है कि दोस्तों ने ऐसी टिप्पणी की।

Online Class: ऑनलाइन क्लास भी आफत बनी! बच्चों में बढ़ रही है आंख की बीमारी

कंगना के बयान पर बवाल शुरू हो गया 
हम आपको बता दें कि कंगना रनौत ने हाल ही में एक न्यूज चैनल पर कहा था कि 1947 में भीख मांगे बिना आजादी नहीं मिलती। कंगना ने कहा कि वास्तव में आजादी 2014 में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद मिली थी। उनके भाषण से हंगामा मच गया। संगीतकार विशाल ददलानी ने कंगना रनौत के बयान की निंदा की है। उन्होंने इंस्टाग्राम पर अपनी एक तस्वीर शेयर की, जिसमें भगत सिंह की एक तस्वीर है। फोटो के कैप्शन में वह लिखते हैं, ‘उस महिला को याद दिलाएं जिसने कहा था कि वह आजादी की भीख मांग रही थी। 23 साल की उम्र में शहीद भगत सिंह ने आजादी के लिए अपनी जान दे दी। चेहरे पर मुस्कान के साथ गाते हुए वह फाँसी पर चढ़ गया। उन्हें याद दिलाएं कि सुखदेव, राजगुरु, अशफाकउल्लाह और हजारों अन्य जिन्होंने सिर झुकाने से इनकार किया था, ने भीख मांगने से इनकार कर दिया। उसे दृढ़ता से याद दिलाएं ताकि भूलकर भी गलती दोहराने की हिम्मत न कर सके।

Online Platform – एडल्ट साइट पर मैथ्स की ट्यूशन देता है टीचर, कमाई में बना डाले रिकॉर्ड

कंगना ने दी खुली चुनौती
बयान के विरोध में, कंगना ने अपनी इंस्टा स्टोरी पर एक पोस्ट में लिखा, ‘बस एक सटीक हिसाब देना… 1857 आजादी के लिए पहला सामूहिक संघर्ष था और सुभाष चंद्र बोस, रानी लक्ष्मीबाई और सावरकर जी जैसी महान हस्तियों द्वारा छेड़ा गया था। . इसमें मेरी मदद करो।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button