मध्यप्रदेश

नाबालिग के साथ रेप,पीड़िता ने खुद पर आग लगाने से पहले सुसाइड नोट में लिखा ‘कि तुम मुझे धोखा दे रहें हो’ फिर हो गई मौत

बैतूल। मध्य प्रदेश में महिला अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. सीधी और सीहोर के बाद अब बैतूल के अतरैला थाना क्षेत्र से एक मामला सामने आया है. जहां घर पर अकेली किशोरी के साथ एक नाबालिग ने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया है. इसके बाद घटना से दुखी पीड़िता ने अपने ऊपर केरोसिन डालकर खुद को आग के हवाले कर दिया. इसके बाद नाबालिग आरोपी ने ही आग बुझाई और मौके से फरार हो गया. घटना के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

बता दे की बैतूल में एक 15 साल की नाबालिक लड़की ने खुद को आग लगा ली । जिसकी महाराष्ट्र के अमरावती अस्पताल में मौत हो गई है । पुलिस ने इस मामले में नाबालिक के पड़ोसी युवक के खिलाफ दुराचार और पास्को एक्ट का मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है । लड़की का एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें उसने लिखा है कि तुम मुझे धोखा दे रहे हो । पुलिस का कहना है कि नाबालिग के युवक से संबंध थे और वह उसे धोखा दे रहा था इस कारण उसने यह कदम उठाया है।

अमरावती अस्पताल से मुलताई थाने को सूचना मिली थी कि उनके क्षेत्र की एक लड़की ने केरोसीन डालकर आग लगा दी थी पुलिस को पता चला कि नाबालिक लड़की के पड़ोस में रहने वाले लड़के से संबंध थे और एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें लिखा है कि तुम मुझे धोखा दे रहे हो इस कारण लड़की ने यह कदम उठाया है आरोपी के खिलाफ दुराचार और पास्को एक्ट का मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है

बैतूल के मुलताई थाना क्षेत्र की दुनावा पुलिस चौकी क्षेत्र के एक गांव की 15 वर्षीय बालिका के साथ पड़ोस के ही एक युवक ने दुष्कर्म किया। इससे व्यथित होकर और बदनामी के डर से पीड़िता ने 24 जुलाई को खुद को आग लगा ली। परिजन उसे महाराष्ट्र के अमरावती ले गए थे। यहां इलाज के दौरान उसकी 28 जुलाई को मौत हो गई ।

बताया जा रहा है कि 15 वर्षीय बालिका के साथ 24 जुलाई की सुबह आरोपी आदित्य कुबड़े ने घर में घुसकर दुष्कर्म किया। पीड़िता उस समय घर में अकेली थी। बालिका ने रात में अपने माता-पिता और घर आए चचेरे भाई को उक्त घटना के बारे में बताया। बालिका ने यह भी बताया कि आरोपी ने पहले भी एक-दो बार उसके साथ दुष्कर्म किया है पर उसने उसे जान से मारने की धमकी दी थी। इस कारण अभी तक उसने परिजनों को नहीं बताया। इसके बावजूद बदनामी के डर से माता-पिता ने पुलिस में इसकी सूचना नहीं दी और सब लोग खाना खा कर सो गए।कइलाज के बाद

बालिका ने बदनामी के डर से उसी रात अपने आप को आग के हवाले कर दिया। जैसे ही घर वालों बालिका के चिल्लाने की आवाज सुनी तो आग बुझाई और गंभीर अवस्था में पहले वरुड़ और वहां से अमरावती के इर्विन अस्पताल में उपचार के लिए ले गए। यहां बालिका का उपचार 4 दिनों तक चलता रहा। यहां जहां इलाज के दौरान कल बुधवार को मौत हो गई।

इनका कहना है

अमरावती से डायरी आने पर मुलताई पुलिस ने आरोपी के खिलाफ दुराचार, पॉक्सो और एससी-एसटी एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। इस संबंध में डीएसपी पल्लवी गौर का कहना है कि आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। आरोपी की तलाश में टीम भेजी गई है ।

पल्लवी गौर डीएसपी महिला डेस्क 

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button