भोपाल

केरल और कर्नाटक में कोरोना के बढ़ते मामलों ने मध्यप्रदेश के साथ केंद्र सरकार की बढ़ाई चिंता

भारत में कोरोना के मामलों में उतार-चढ़ाव जारी है। कभी संक्रमण के मामले कम हो रहे हैं तो कभी अचानक से बढ़ जा रहे हैं। गुरुवार की तुलना में शुक्रवार को कोरोना केसों में एक बार फिर बढ़ोतरी देखने को मिली है। बीते 24 घंटे में 44 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। वहीं 555 लोगों ने जान गंवाई है। इनमें से आधे से ज्यादा केस दो राज्यों से हैं। केरल और कर्नाटक में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। केरल में एक दिन में 22 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। वहीं कर्नाटक में भी 20 हजार से ज्यादा केस सामने आए हैं। केरल एवं महाराष्ट्र में बढ़ रहे कोरोना के मामलों पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि हमें पूरी सतर्कता और सावधानी रखने की जरूरत है। प्रदेश में दूसरी लहर नियंत्रित हुई है, पर तीसरी लहर का खतरा खत्म नहीं हुआ है। वे शुक्रवार को मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना की स्थिति और तीसरी लहर की व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। समीक्षा में पाया गया कि पन्ना, सीधी एवं अलीराजपुर जिलों में तुलनात्मक रूप से वैक्सीनेशन का कार्य धीमा है। इन सभी जिलों में वैक्सीनेशन की गति बढ़ाने के निर्देश दिए गए। वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरूक किया जाए।

मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिए कि सभी कलेक्टर अपने-अपने जिलों में तीसरी लहर की तैयारियों में अस्पतालों में बिस्तर बढ़ाने, आॅक्सीजन संयंत्रों की स्थापना, आईसीयू वार्डस, सिटीस्केन और अन्य जांच व्यवस्थाएं, आवश्यक दवाओं की व्यवस्था, विशेषज्ञ चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ, तकनीशियन आदि की व्यवस्था समय पर सुनिश्चित करें।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button