मध्यप्रदेश

लॉकडाउन में हालत हुई खराब तो रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने लगा वकील

सिवनी । सिवनी से रेमडेसिविर इंजेशन की कालाबाजारी करने वाले वकील को एसटीएफ की टीम ने ग्वालियर स्टेशन से गिरतार किया है। गिरतारी के समय आरोपी के पास से पांच इंजेशन मिले वह अपना पूरा रैकेट सोशल मीडिया के माध्यम से चलाता है उसके पास जैसे ही इंजेशन की डिमांड आती तो वह सोशल मीडिया गू्रप में सक्रिय हो जाता बताया जाता है कि आरोपी पेशे से वकील है और 2018 में सिवनी विधानसभा सीट से विधायक का चुनाव भी लड़ चुका है। आरोपी कमलेश्वर प्रसाद सन 2020 के लॉकडाउन के बाद से आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण परेशान चल रहा था और सन 2021 में वह कालाबाजारी में उतर गया। ग्वालियर में स्पेशल टास्क फोर्स के द्वारा गिरतार किए गए आरोपी की पहचान सिवनी निवासी कमलेश्वर प्रसाद दीक्षित 40 वर्ष निवासी रघुनाथ कॉलोनी के रूप में हुई है आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। जानकारी के अनुसार एसटीएफ इंस्पेटर चेतन सिंह बैस को सूचना प्राप्त हुई थी कि सोशल मीडिया के माध्यम से कुछ लोग रेमडीसीविर इंजेशन की कालाबाजारी कर रहे हैं। सूचना के आधार पर उन्होंने फेसबुक पर अपना अकाउंट बनाया और उसके जरिए कोरोना वायरस पेशेंट का भाई बनकर सोशल मीडिया में इंजेशन की डिमांड का मैसेज वायरल किया मैसेज वायरल होते ही एक युवक ने उनसे संपर्क किया। एसटीएफ द्वारा 5 इंजेशन की डिमांड रखी गई और दलाल ने 30000 रुपये में एक इंजेशन देने की बात कही, जिस पर सौदा तय हुआ । इंजेशन की डिलीवरी देने के लिए आरोपी शनिवार की दोपहर ग्वालियर रेलवे स्टेशन पहुंचा जहां योजनानुसार एसटीएफ ने इंजेशन की कालाबाजारी करने वाले आरोपी को गिरतार कर लिया।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button