मध्यप्रदेश

प्रोफेसर पत्नी ने ही किया था डॉक्टर का कत्ल

छतरपुर । छतरपुर के जाने माने मेडिसिन चिकित्सक डॉ. नीरज पाठक का कत्ल उनकी प्रोफेसर पत्नी ममता पाठक ने ही किया था। हत्या के 08 दिन बाद पुलिस ने इस मामले का खुलासा करते हुए ममता पाठक को जेल भेज दिया है। छतरपुर के लोकनाथपुरम कॉलोनी में रहने वाले जिला आस्पताल के रिटायर्ड डॉटर डॉ.नीरज पाठक और उनकी 61 वर्षीय पत्नी ममता पाठक के बीच लगभग 11 साल से विवाद चल रहा है। पत्नी महाराजा कॉलेज में रासायन शास्त्र की प्राध्यापक हैं और साइको स्वभाव की महिला हैं। पति-पत्नी में विवाद के कारण दोनों अलग-अलग रहते थे लेकिन सितबर 2020 पत्नी और बेटा एक बार फिर पिता के साथ रहने आ गए थे। पिछले कुछ महीनों से एक बार फिर दोनों में विवाद शुरू हो गया। विवाद के कुछ साक्ष्य भी सामने आए हैं। 29 अप्रैल को मौत से पहले डॉटर नीरज पाठक ने सिविल लाइन थाने में पत्नी के खिलाफ लिखित शिकायत की थी तो वहीं अपने एक वकील और भाई को फोन पर भी आपबीती सुनाई थी। इस बातचीत का ऑडियो भी पुलिस की जांच का एक अहम आधार बना था। डीएसपी शशांक जैन ने बताया कि 29 अप्रैल को ही ममता पाठक ने अपने पति को खाने में नींद की गोलियां मिलाकर बेहोश कर दिया और फिर दो घंटे बाद जब वो अचेत अवस्था मे चले गए तो एक एसटेंशन बोर्ड के माध्यम से उनको करंट लगाकर मौत के घाट उतार दिया। पति को मारने के बाद ममता पाठक अपने बेटे के साथ एक प्राइवेट कार किराये से लेकर इलाज के नाम पर अगले दिन झांसी चली गई। 01 मई को खुद ममता पाठक ने ही 100 डायल को सूचित किया कि उनके घर में उनके पति मृत अवस्था में पड़े हैं। पुलिस ने महिला को हिरासत में लेकर शव का पोस्टमार्टम तीन डॉटरों के बोर्ड से कराया जिसकी रिपोर्ट 5 दिन बाद सामने आई। रिपोर्ट में जब करंट से मौत की बात सामने आई तो पुलिस ने  पूछताछ की तो ममता पाठक टूट गई और उसने हत्या की पूरी वारदात उगल दी।

हुड़दंग न्यूज

हुड़दंग न्यूज (दबंग शहर की दबंग खबरें) संवाददाता की आवश्यकता है- संपर्क कीजिये-  hurdangnews@gmail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button